S M L

अमेरिका का गोल उत्तर कोरिया के खिलाफ ‘युद्ध नहीं’ है: अमेरिकी रक्षा मंत्री

एक तरफ ट्रंप किम जोंग उन से उलझ रहे हैं, वहीं अमेरिकी रक्षामंत्री दक्षिण कोरिया में शांति दूत बनकर गए हैं.

Bhasha Updated On: Oct 27, 2017 03:35 PM IST

0
अमेरिका का गोल उत्तर कोरिया के खिलाफ ‘युद्ध नहीं’ है: अमेरिकी रक्षा मंत्री

अमेरिका के रक्षा मंत्री जिम मैटिस अपनी पहली दक्षिण कोरिया की यात्रा पर पहुंचे हैं. यहां उन्होंने शुक्रवार को नॉर्थ कोरिया और दक्षिण कोरिया की सीमा पर खड़ें होकर कहा कि अमेरिका का गोल उत्तर कोरिया के खिलाफ ‘युद्ध’ नहीं है क्योंकि अमेरिका उत्तर कोरिया के साथ उच्च सैन्य तनाव को शांत करना चाहता है.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के युद्ध की धमकी देने और निजी आरोप-प्रत्यारोप लगाने के कारण बढ़ती वैश्विक चिंताओं के बीच कोरियाई प्रायद्वीप को लेकर तनाव बढ़ गया है.

बहरहाल दक्षिण कोरिया की यात्रा के दौरान तनावग्रस्त असैन्य क्षेत्र के दौरे पर गए मैटिस ने कहा कि अमेरिका ‘कूटनीतिक समाधान’ के लिए प्रतिबद्ध है.

उन्होंने संघर्षविराम वाले गांव पनमुनजोम में कहा, ‘जैसा कि अमेरिका के विदेश मंत्री टिलरसन ने यह साफ किया है कि हमारा मकसद युद्ध नहीं है बल्कि कोरियाई प्रायद्वीप का पूर्ण, प्रमाणिक और परमाणु हथियारों का अपरिवर्तित निरस्त्रीकरण चाहते हैं.’

मैटिस ने इस बात पर भी जोर दिया कि दक्षिण कोरिया के उनके समकक्ष सोंग यूंग-मू ने भी ‘उत्तर कोरिया की दुष्ट, आपराधिक प्रवृत्ति से निपटने के लिए कूटनीतिक समाधान के प्रति अपनी पारस्परिक प्रतिबद्धता स्पष्ट की है.’

यह टिप्पणी मैटिस के उस बयान के एक बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा था कि अमेरिका ‘युद्ध की जल्दबाजी’ में नहीं है और वह ‘शांतिपूर्ण समाधान’ चाहता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi