S M L

चीन की मांग के आगे झुका एयर इंडिया, ताइवान का नाम बदलकर किया ताइपे

चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है, हालांकि ताइवान 1949 से अपनी अलग सरकार चलाता है

Updated On: Jul 05, 2018 11:52 AM IST

FP Staff

0
चीन की मांग के आगे झुका एयर इंडिया, ताइवान का नाम बदलकर किया ताइपे
Loading...

सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया की वेबसाइट पर अब आपको ताइवान लिखा हुआ नजर नहीं आएगा. चीन की मांग के आगे झुकते हुए एयर इंडिया ने अपनी वेबसाइट पर ताइवान का नाम ताइपे करने का फैसला किया है.

दरअसल अप्रैल महीने में चीन के नागरिक उड्डयन प्रशासन ने 36 एयरलाइन्स को पत्र लिखकर 'एक चीन' सिद्धांत के तहत अपनी वेबसाइट पर ताइवान, मकाऊ और हांगकांग को चीन के हिस्से के रूप में मान्यता देने की बात कही थी.

माना जा रहा है कि भारत ने यह कदम चीन के साथ अपने संबंधों को सुधारने के लिए उठाया है. मालूम हो कि अप्रैल में चीन ने 36 एयलाइन्स को पत्र लिखकर 'एक चीन' सिद्धान्त का सम्मान करने की बात कही थी. तब एयर कनाडा और लुफ्थांसा जैसी कुछ एयरलाइन्स ने उनकी बात जरूर मानी थी. लेकिन एयर इंडिया समेत अमेरिका और कई अन्य देशों की एयरलाइन्स ने ऐसा नहीं किया था.

माना जा रहा है कि एयर इंडिया ने विदेश मंत्रालय के साथ चर्चा के बाद ही यह कदम उठाया होगा. आपको बता दें कि नाम बदलने के लिए चीनी प्रशासन ने एयलाइन्स को 25 जुलाई तक का वक्त दिया था. पत्र में बात न मानने पर एयरलाइन्स के खिलाफ कार्रवाई की भी बात कही थी.

मालूम हो कि चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है, हालांकि ताइवान 1949 से अपनी अलग सरकार चलाता है. चीन ताइवान की स्वतंत्रता को स्वीकार नहीं करता है इसलिए उसने अंतरराष्ट्रीय संगठनों को ताइवान को चीन का हिस्सा मानने की हिदायत दी है. और यही वजह है कि अंतरराष्ट्रीय संगठनों द्वारा ताइवान का नाम चीनी ताइपे प्रयोग किया जाता है.

(साभार न्यूज 18)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi