S M L

अफगानिस्तान: तालिबान की धमकियों को दरकिनार कर अफगानों ने किया मतदान

तालिबान की धमकियों के बीच हो रहे संसदीय चुनावों में 33 प्रांतों के लगभग 2,500 उम्मीदवार देशभर में 249 सीटों पर मैदान में थे

Updated On: Oct 20, 2018 06:45 PM IST

FP Staff

0
अफगानिस्तान: तालिबान की धमकियों को दरकिनार कर अफगानों ने किया मतदान
Loading...

शनिवार को अफगानिस्तान में लंबे समय के बाद संसदीय चुनावों के लिए मतदान हुआ. हजारों की संख्या में सुरक्षाबलों की मौजूदगी में हुए इस मतदान के दौरान कई जगहों पर धमाके और गोलीबारी की खबरें सामने आईं हैं. दरअसल तालिबान ने मतदान का बहिष्कार किया है और उसने लोगों को मतदान न करने के लिए भी कहा है.

तकनीकी खराबी और तालिबान की धमकी के कारण सैंकड़ों मतदान केंद्रों पर वोटिंग बाधित रही और कहीं-कहीं काफी देरी से भी शुरू हुई. वहीं मतदान के दौरान हुए तालिबानी हमलों में कई लोगों की मौत भी हो गई. अफगानिस्तान के काबुल में हुए हमले में ही करीब 3 लोगों की मौत हो गई तो 30 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए.

कुंदुज प्रांत में स्वतंत्र निर्वाचन अधिकारी की हत्या कर दी गई और मतपेटियों को लूट लिया गया. कुंदुज प्रांत की राजधानी पर तीन रॉकेट भी छोड़े गए हालांकि इन से कोई भी हताहत नहीं हुआ. एएफपी के मुताबिक तालिबान नें शनिवार को 166 जगहों पर हुए हमलों की जिम्मेदारी ली है. हालांकि तालिबान की धमकियों के बाद भी अच्छी संख्या में लोग मतदान के लिए आए.

मतदान के पहले तालिबान ने की 10 उम्मीदवारों की हत्या

तालिबान की धमकियों के बीच हो रहे संसदीय चुनावों में 33 प्रांतों के लगभग 2,500 उम्मीदवार देशभर में 249 सीटों पर मैदान में थे. गौरतलब है कि चनावों की घोषणा के बाद से ही तालिबान ने स्थानीय लोगों और उम्मीदवारों पर हमले शुरू कर दिए थे. मतदान को पहले हुए इन हमलों में सेंकड़ों लोगों और 10 उम्मीदवार भी मारे गए.

अफगानिस्तान के कंधार जिसे तालिबान की जन्मभूमि भी कहते हैं में गत गुरुवार को अफगान और अमेरिकी अधिकारियों पर हुए हमले के बाद चुनाव स्थगित कर दिए गए थे. हालांकि करीब 70,000 सुरक्षाकर्मियों की निगरानी में अन्य जगहों पर चुनावों का आयोजन हुआ.

कई जगहों पर भागते दिखे तो लोग तो कहीं हुए हमले

स्थानीय समय के मुताबिक सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक मतदान हुआ. मतदान के दौरान अफगानिस्तान के काबुल में मतदान केंद्रों पर कई धमाके हुए. धमाके के दौरान केंद्रों पर मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे थे. इसके बाद अफगानिस्तान की राजधानी के उत्तर में एक स्कूल में मतदाता भागते दिखाई दिए. प्रत्यक्षदर्शियों ने अन्य मतदान केंद्रों पर भी धमाकों की सूचना दी है.

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने मतदान की शुरुआत में अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. इसके बाद टेलीविजन पर दिए भाषण में उन्होंने एक अन्य चुनाव के लिए अफगानवासियों को बधाई दी और देश के सुदूरवर्ती हिस्सों तक बैलट ले जाने के लिए सुरक्षाबलों खासतौर से वायु सेना की प्रशंसा की. गौरतलब है कि स्वतंत्र निर्वाचन आयोग ने इन चुनावों के लिए 88 लाख लोगों को पंजीकृत किया है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi