S M L

यूएस से सीधी बातचीत के बिना अफगानिस्तान में हिंसा समाप्त नहीं होगी: तालिबान

ईद-उल-जुहा के मौके पर जारी किए गए संदेश में मौलवी हैबतुल्ला अखुनजादा ने कहा कि तालिबान ‘इस्लामिक लक्ष्यों’ और अफगानिस्तान की संप्रभुता और युद्ध को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है

Updated On: Aug 18, 2018 05:42 PM IST

Bhasha

0
यूएस से सीधी बातचीत के बिना अफगानिस्तान में हिंसा समाप्त नहीं होगी: तालिबान

तालिबान के नेता ने शनिवार को कहा कि अफगानिस्तान में तब तक शांति नहीं आएगी जब तक यहां विदेशी ‘कब्जा’ बरकरार रहेगा. इस आतंकी समूह का कहना है कि अमेरिका से सीधी बातचीत के बाद ही देश से हिंसा को समाप्त किया जा सकता है.

ईद-उल-जुहा के मौके पर जारी किए गए संदेश में मौलवी हैबतुल्ला अखुनजादा ने कहा कि तालिबान ‘इस्लामिक लक्ष्यों’ और अफगानिस्तान की संप्रभुता और युद्ध को खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध है.

तालिबान ने अफगानिस्तान सरकार से बात करने से मना किया था क्योंकि इस आतंकी समूह का मानना है कि वह यह सरकार अमेरिका का मुखौटा है और वह सीधे अमेरिका से बातचीत करेगा। समूह ने कहा है कि वह क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और अन्य देशों को खतरे में नहीं डालेगा. आतंकी समूह ने अमेरिकी और नाटो सेनाओं की अफगानिस्तान से पूरी तरह वापसी की मांग की है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi