विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

पनामा पेपर्स मामला: पाकिस्तान के वित्त मंत्री के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट

अदालत ने इसहाक डार की व्यक्तिगत पेशी से राहत देने वाली याचिका को खारिज करते हुए उन्हें 2 नवंबर को सुनवाई की अगली तारीख पर पेश होने का आदेश दिया है

Bhasha Updated On: Oct 30, 2017 01:03 PM IST

0
पनामा पेपर्स मामला: पाकिस्तान के वित्त मंत्री के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट

पाकिस्तान की एक भ्रष्टाचार निरोधी अदालत ने सोमवार को पनामा पेपर्स लीक कांड से जुड़े भ्रष्टाचार के एक मामले में देश के वित्त मंत्री इसहाक डार के खिलाफ जमानती गिरफ्तारी वांरट जारी किया है.

एहतिसाब (जवाबदेही) अदालत ने मामले में व्यक्तिगत पेशी से छूट मांगने के डार के आवेदन को खारिज कर दिया. इसहाक डार के वकील ख्वाजा हारिस जस्टिस मुहम्मद बशीर की अदालत में पेश हुए. उन्होंने डार को इस आधार पर व्यक्तिगत पेशी से छूट देने का आग्रह किया कि वह इलाज कराने के लिए लंदन में हैं.

अदालत ने डार की याचिका को खारिज कर दिया और उनके खिलाफ जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया. साथ ही आदेश दिया कि डार 2 नवंबर को सुनवाई की अगली तारीख पर उसके सामने पेश हों.

पाकिस्तान के नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद डार के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

सुप्रीम कोर्ट ने भ्रष्टाचार के आरोपों में जांच के बाद जुलाई में नवाज शरीफ को प्रधानमंत्री पद के लिए अयोग्य घोषित कर दिया था. जिसके चलते नवाज शरीफ को प्रधानमंत्री पद से हटना पड़ा था.

इसहाक डार मुकदमा शुरू होने के बाद से अब तक सात बार अदालत में पेश हो चुके हैं. इससे पहले वह 20 सितंबर को पेश नहीं हुए थे. यह दूसरी बार है जब वह पेश नहीं हुए.

निचली अदालत में डार की गैर-मौजूदगी की वजह से सोमवार को कार्यवाही आगे नहीं बढ़ पाई. अभियोजन पक्ष के गवाह और एक निजी बैंक की संसद शाखा के मैनेजर अब्दुल रहमान गोंदाल मंत्री के खातों से से संबंधित दो बैग दस्तावेज लेकर पेश हुए थे.

हारिस ने आवेदन में जिक्र किया कि डार मध्य एशिया क्षेत्रीय आर्थिक सहयोग मंत्री सम्मेलन में शामिल होने के बाद जेद्दा गए थे. जहां वह बीमार हो गए और फिर इाज के लिए लंदन चले गए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi