S M L

अगवा किए 39 भारतीयों को एक साल पहले मारा गया: इराकी मंत्री

इराकी अथॉरिटी को भारतीय कामगारों की बॉडी मिली थी. ये सभी भारतीय वहां निर्माण कार्य से जुड़े थे

FP Staff Updated On: Mar 22, 2018 04:53 PM IST

0
अगवा किए 39 भारतीयों को एक साल पहले मारा गया: इराकी मंत्री

इराक के हेल्थ मिनिस्टर ने बुधवार को बताया कि 39 भारतीयों को इस्लामिक स्टेट ने 2014 में अगवा कर लिया था. इसके बाद उन्हें गोली मार दी गई थी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हेल्थ मिनिस्टर के नेतृत्व वाले फोरेंसिक मेडिसन डिपार्टमेंट के डीएनए टेस्ट में साबित हुआ कि शवों को गोली मारी गई थी.

विभाग के प्रमुख ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि परीक्षण करने के लिए उन्हें दिए गए अवशेष हड्डियां और कंकाल थे और उसमें कोई फाइबर और मांसपेशियां नहीं थीं. इसमें पाया गया कि इन लोगों को करीब एक साल पहले गोली मारी गई थी.

इराकी अथॉरिटी को भारतीय कामगारों की बॉडी मिली थी. ये सभी भारतीय वहां निर्माण कार्य से जुड़े थे. इस्लामिक स्टेट के अधिकारियों ने इन सभी कामगारों को बंधक बना लिया था.

इराक अथॉरिटी के अधिकारियों के मुताबिक, इन मजदूरों की लाशों को मोसुल के उत्तर-पश्चिम में बादुश में जलाया गया था. यही वह इलाका है, जिसपर इराकी सेना ने पिछली जुलाई पर कब्जा किया था.

इराकी अधिकारी नाजिहा अब्दुल आमिर अल-शिमारी ने कहा था, ‘दएश आतंकी गुटों ने जघन्य अपराध किया है.’ अरबी में इस्लामिक स्टेट ग्रुप को दएश कहते हैं. नाजिहा का कहना है कि जो लाशें मिली हैं वो भारतीयों की हैं. उनका सम्मान करना चाहिए. लेकिन आतंकी इस्लाम के सिद्धांत का अपमान कर रहे हैं.

संसद में मंगलवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था कि सर्च ऑपरेशन टीम ने बादुश के नजदीक एक टीला पाया. स्थानीय लोगों का कहना था कि यहीं बंदियों को जलाया गया था.

इराकी अथॉरिटी ने रडार के इस्तेमाल से यह पता लगाया कि टीला के नीचे कब्रिस्तान है. स्वराज ने कहा कि इसके बाद उन लाशों को निकाला गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi