विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

लंदन हमले में 12 संदिग्ध गिरफ्तार, इस्लामिक स्टेट ने ली हमले की जिम्मेदारी

हमलावरों ने किराए के वाहन को भीड़-भाड़ वाले लंदन ब्रिज पर पैदल चलने वालों पर चढ़ा दिया था

Bhasha Updated On: Jun 05, 2017 05:10 PM IST

0
लंदन हमले में 12 संदिग्ध गिरफ्तार, इस्लामिक स्टेट ने ली हमले की जिम्मेदारी

लंदन में वैन और फिर चाकुओं से किए गए हमलों के बाद ब्रिटेन की पुलिस ने आतंकवादी हमले के सिलसिले 12 लोगों को हिरासत में लिया है. इस हमले में सात लोगों की मौत हो गई थी. इस्लामिक स्टेट ने सोमवार को इस हमले की जिम्मेदारी ली है.

हालांकि हमलावर मारे जा चुके हैं लेकिन प्रशासन यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहा है कि हमलावरों के साथ दूसरे आतंकी थे या नहीं.

नए तरह के हमलों का सामना कर रहे हैं हम

वहीं प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने रविवार को चेतावनी दी कि देश नए तरह के हमले का सामना कर रहा है.

देश के सभी बड़े राजनीतिक दलों ने आम चुनाव से कुछ दिन पहले चुनाव अभियान को अस्थायी रूप से रोक दिया है. प्रधानमंत्री ने कहा है कि चुनाव अपने तय समय-सीमा पर ही गुरुवार को होंगे क्योंकि ‘हिंसा को कभी भी लोकतांत्रिक पद्धति में बाधा डालने की इजाजत नहीं दी जा सकती.’

हमला शनिवार की रात को को तब.हुआ जब हमलावरों ने एक किराए के वाहन को भीड़-भाड़ वाले लंदन ब्रिज पर पैदल चलने वालों पर चढ़ा दिया.

इसके बाद तीन हमलावर वाहन से छुरे के साथ निकले और बरो मार्केट में बार तथा रेस्त्रां में लोगों पर तब तक हमले करते रहे जब तक कि पुलिस ने उन्हें मार नहीं गिराया.

इस्लामिक स्टेट ने ली हमले कि जिम्मेदारी

एसआईटीई इंटेलिजेंस ग्रुप के अनुसार इस्लामिक स्टेट ने अपनी अमाक समाचार एजेंसी के माध्यम से एक बयान जारी किया है. इसमें दावा किया गया है कि इस हमले के पीछे इस्लामिक स्टेट के हमलावर जिम्मेदार हैं. इस्लामिक स्टेट ने अपने समर्थकों से वाहनों को हमले में इस्तेमाल करने की अपील की है.

इस साल ब्रिटेन में यह तीसरा हमला है जिसकी जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली है. इसी तरह का हमला मार्च में वेस्टमिंस्टर में हुआ था. दो सप्ताह पहले मैनचेस्टर कॉन्सर्ट में आत्मघाती हमला हुआ था. पिछले साल फ्रांस के नीस में भी बैस्टील डे के मौके पर एक वाहन ने लोगों को कुचला था.

शनिवार को हमला करने वाले तीनों हमलावर आत्मघाती बेल्ट पहने हुए थे लेकिन बाद में इस बेल्ट के फर्जी होने का पता चला.

अन्य यूरोपीय देशों और कनाडा के नागरिक भी बने शिकार

आतंकवाद निरोधक बल के प्रमुख सहायक आयुक्त मार्क राउले ने बताया कि जांचकर्ता यह पता लगा रहे हैं कि हमलावर को अन्य लोगों ने सहायता दी या नहीं. इस हमले में दो पुलिस अधिकारी सहित 48 लोगों का इलाज अस्पताल में हो रहा है. रविवार तक 21 व्यक्ति गंभीर हालत में थे. घायल लोगों में जर्मनी, फ्रांस और स्पेन के भी नागरिक हैं.

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कहा है कि मरने वालों में कनाडा का भी एक नागरिक है. इस हमले में फ्रांस के भी एक नागरिक की मरने की पुष्टि हुई है.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने हमले को इस्लामिक आतंकवाद से जोड़ा

इस्लामिक स्टेट समूह ने मैनचेस्टर हमले की जिम्मेदारी ली थी लेकिन लंदन हमले की इस्लामिक स्टेट ने तत्काल जिम्मेदारी नहीं ली थी.

प्रधानमंत्री ने इस हमले को इस्लामिक चरमपंथ से जोड़ा था. उन्होंने कहा था, ‘हमला सीधे तौर पर संबंधित नहीं था लेकिन हमारा विश्वास है कि हम खतरे के एक नए चलन को देख रहे हैं क्योंकि आतंकवाद आतंकवाद को जन्म देता है. हमलावर एक-दूसरे की नकल करते हैं.’ उन्होंने यह भी कहा कि मार्च से हमले की पांच साजिशों को नाकाम किया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi