S M L

दिल्ली के वकील ने व्हाट्सऐप को क्यों भेजा नोटिस?

नोटिस में वकील ने कहा 'मिडल फिंगर दिखाना ना सिर्फ अश्लील है, बल्कि बेहद जुझारू, आक्रामक, अश्लील इशारा है.'

Updated On: Dec 26, 2017 09:45 PM IST

FP Staff

0
दिल्ली के वकील ने व्हाट्सऐप को क्यों भेजा नोटिस?

एक वकील ने मंगलवार को मोबाइल मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप को लीगल नोटिस भेजा है. इस नोटिस में व्हाट्सऐप को 15 दिन में 'मिडल फिंगर' इमोजी हटाने के लिए कहा गया है.

यह नोटिस गुरमीत सिंह ने भेजा है. गुरमीत दिल्ली कोर्ट में प्रेक्टिस कर रहे हैं. उन्होंने कहा 'मिडल फिंगर सिर्फ गैरकानूनी ही नहीं है, बल्कि अश्लील इशारा भी है. यह भारत में अपराध है.'

नोटिस में वकील ने कहा 'मिडल फिंगर दिखाना ना सिर्फ अश्लील है, बल्कि बेहद जुझारू, आक्रामक, अश्लील इशारा है.'

सिंह ने आगे कहा 'भारतीय दंड संहिता की धारा 354 और 509 के मुताबिक यह अश्लील, अशिष्ट, महिलाओं को आक्रामक इशारों दिखाने के लिए एक अपराध है. किसी भी व्यक्ति द्वारा एक अश्लील, आक्रामक, अश्लील इशारे का उपयोग करना पूरी तरह से अवैध है.'

उन्होंने कहा 'व्हाट्सऐप में इस तरह की मिडल फिंगर इमोजी का इस्तेमाल करना महिलाओं के प्रति अपराध को भी बढ़ावा देना है.' इमोजी एक डिजिटल तस्वीर होती है जिससे आप अपना आइडिया या इमोशन बयां करते हो.

इसके चलते वकील गुरमीत सिंह ने व्हाट्सऐप से इस तस्वीर को 15 दिन में हटाने के लिए कहा है. उन्होंने कहा यदि ऐप ऐसा नहीं करती है तो आगे कानूनी कार्रवाई की जाएगी और इस पर केस किया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi