S M L

Whatsapp के फर्जी अपडेट में कहीं आप तो नहीं फंस गए?

व्हाट्सअप प्लस के असली निर्माता का पता लगाना लगभग नामुमकिन है. इस कारण यह ऐप संदेह के घेरे में है

FP Staff Updated On: Apr 05, 2018 04:45 PM IST

0
Whatsapp के फर्जी अपडेट में कहीं आप तो नहीं फंस गए?

व्हाट्सअप अपने यूजर की सहूलियत के लिए अपडेट जारी करता रहता है. हालांकि दुनिया का सबसे ज्यादा उपयोग में आने वाला इंस्टैंट मैसेजिंग एप होने के बावजूद इसमें कुछेक खामियां भी सामने आती हैं. इनमें फर्जी अपडेट के अलावा गूगल प्ले पर डुप्लीकेट एप्स पाए जाने की खबरें हैं.

टाइम्स नॉउ की एक खबर के मुताबिक वेब पर फर्जी व्हाट्सअप/ऐप पाए गए हैं. गूगल प्ले पर हिदायत दी गई है कि ऐसे एेप को अपने स्मार्टफोन पर कतई डाउनलोड न करें. व्हाट्सअप प्लस नाम का यह फर्जी ऐप आपकी व्यक्तिगत जानकारी को खतरे में डाल सकता है क्योंकि इसका डेललेपर कोई थर्ड पार्टी है.

क्या है व्हाट्सअप प्लस

यह व्हाट्सअप का फर्जी वर्जन है जिसका लोगो गोल्ड कलर का है जबकि ऑरिजनल व्हाट्सअप का लोगो ग्रीन है. इसका हैंडल और यूआरएल अंदर लिखा हुआ है. आप इसके 'एग्री एंड कंटीन्यू' ऑप्शन पर जैसे ही क्लिक करते हैं, उधर से लिखा आता है आउट ऑफ डेट वर्जन. बाद में इसका अपडेट डालनलोड करने का इंस्ट्रक्शन दिया जाता है. इसके बाद एरर का मैसेज आएगा जिसमें गूगल प्ले स्टोर से व्हाट्सअप प्लस का नया वर्जन इंस्टॉल करने का निर्देश दिया जाएगा. इसके साथ ही गोल्ड लोगो के यूआरएल पर क्लिक करने को कहा जाएगा. यह वेबसाइट अरब की है जिसके डेवलेपर की सारी जानकारी अरबी भाषा में दी गई है.

मालवेयरबाइट्स लैब की एक रिपोर्ट के मुताबिक, व्हाट्सअप प्लस आपकी सारी व्यक्तिगत जानकारी चुराता है. यह एेप Android/PUP.Riskware.Wtaspin.GB का वैरियंट है जिसे फर्जी व्हाट्सअप रिस्कवेयर के तौर पर चिन्हित किया गया है. यह भी देखा गया है कि एेप लगातार अपडेट लेता है.

कैसे काम करता है व्हाट्सअप प्लस

व्हाट्सअप प्लस अपडेट के लिए अरबी पेज की मदद लेता है. जब साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञों ने इसकी छानबीन की तो उन्हें एेप अपडेट के लिए अलग-अलग यूआरएल मिले. इससे व्हाट्सअप प्लस के असली निर्माता का पता लगाना लगभग नामुमकिन है. इन कारणों से यह एेप संदेह के घेरे में आ जाता है.

इस एेप कई और फीचर हैं जैसे लास्ट अपियरेंस को छुपाना, प्राप्त टेक्स्ट, रिड टेक्स्ट, करेंट राइटिंग और वाइस क्लिप को छुपाने जैसे फीचर इसमें शामिल हैं. इसमें यह सुविधा भी है कि सेटिंग्स में जाकर आप अपने दोस्तों के स्टेटस चेक करने की जानकारी भी छुपा सकते हैं. इस फर्जी एेप पर यह सुविधा भी है कि आप एक क्लिक में 100 फोटो शेयर कर सकते हैं. प्राइवेसी के लिए सीक्रेट पासवर्ड भी बना सकते हैं.

फर्जी व्हाट्सअप में कई फीचर ऑरिजनल से मिलते जुलते हैं लेकिन कई फीचर ऐसे भी हैं जो ऑरिजनल से हटकर हैं. मालवेयरवाइट्स लैब ने एक बयान में कहा है कि फर्जी व्हाट्सअप का ऑरिजनल सोर्स क्या है, यह गंभीर बात तो है ही, इसलिए गूगल प्ले से असली व्हाट्सअप को ही डाउनलोड किया जाना चाहिए क्योंकि कुछ खामियां होने के बावजदू यह सुरक्षित है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi