S M L

'स्वलेख' ऐप पर उपलब्ध होंगी सभी क्षेत्रीय भाषाएं

'स्वलेख ऐप' में लाई गई भारत की विभिन्न भाषाएं. अब किसी भी भाषा में कंटेंट हासिल किया जा सकेगा

Updated On: Aug 27, 2017 12:49 PM IST

FP Staff

0
'स्वलेख' ऐप पर उपलब्ध होंगी सभी क्षेत्रीय भाषाएं

डिजिटल इंडिया योजना के बाद अब अलग अलग स्थानीय भाषाओं को एक ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लाया जा रहा. इसके लिए जल्द ही 'स्वलेख' ऐप शुरू किया जाएगा.

इस ऐप के जरिए विभिन्न ऐप्स का इस्तेमाल कर यूजर क्षेत्रीय भाषा में ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने के साथ स्थानीय भाषाओं में क्षेत्रीय कंटेंट प्राप्त कर सकेंगे.

स्थानीय कैशलेस अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए यूपीआई (यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस) भीम ऐप को शुरू किया गया था. जिसके कारण पिछले साल टियर 2 शहरों में भी ई-कॉमर्स सेक्टर में विकास देखा गया है. 'स्वलेख ऐप' के जरिए स्थानीय भाषाओं का अनुभव मोबाइल पर भी देखा जा सकेगा, इसके साथ स्थानीय स्क्रिप्ट या फोनेटिक रूप में भी टाइप करने की सुविधा मिल सकेगी.

इस ऐप के जरिए इंडिक फोनबुक के माध्यम से भारतीय भाषाओं में कॉन्टेक्ट सेव और स्क्रीन लॉक जैसी सुविधाएं क्षेत्रीय भाषा में उपलब्ध होंगी. 'स्वलेख ऐप' भारत की 22 आधिकारिक भाषाओं में अलग-अलग स्क्रीन रिजॉल्यूशन के फीचर फोन के लिए निश्चित आकार के फोंट भी देता है.

स्मार्टफोन के लिए रेवरी ने ओपन टाइप स्केलेबल फोंट की सुविधा भी दी है. स्वलेख के यूजर्स अंग्रेजी स्क्रिप्ट में फोनेटिक रूप से टाइप कर सकते है और मूल भाषा में समझ सकते है. इस सुविधा के लिए इंटरनेट होने की जरुरी नहीं है, यह ऐप ऑफलाइन भी काम करेगा.

(साभार न्यूज़ 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi