Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

14 साल के लड़के ने बनाया 'रैनसमवेयर', बोला- फेमस होना चाहता था

मुफ्त में उपलब्ध इनक्रिप्शन सॉफ्टवेयर के जरिए मालवेयर तैयार कर लिया

FP Staff Updated On: Jun 06, 2017 10:00 AM IST

0
14 साल के लड़के ने बनाया 'रैनसमवेयर', बोला- फेमस होना चाहता था

जापान में 14 साल के एक लड़के को गिरफ्तार किया गया है. आरोप है कि इस लड़के ने एक ऐसा वायरस तैयार किया था जो हाल में ही दुनिया को परेशान करने वाले रैसनमवेयर मालवेयर जैसा था.

जापान के ओसाका शहर में स्कूल में पढ़ने वाले इस छात्र ने इस रैनसमवेयर को एक विदेशी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया था जहां से इसे 100 से अधिक बार डाउनलोड भी किया जा चुका है. बताया जा रहा है कि इस छात्र ने मुफ्त में उपलब्ध इंक्रिप्शन सॉफ्टवेयर के जरिए यह मालवेयर तैयार कर लिया था.

इस छात्र ने इन आरोपों को स्वीकार कर लिया है. उसका कहना है कि उसने प्रसिद्ध होने के लिए यह सॉफ्टवेयर बनाया. उसका कहना है कि उसने खुद से ही ऐसा सॉफ्टवेयर बनाना सीख लिया. यह सॉफ्टवेयर उसी रैनसमवेयर 'वानाक्राई' के जैसा है जिसने हाल में ही पूरी दुनिया को निशाना बनाया था.

'वानाक्राई' ने करीब 150 कंपनियों को शिकार बनाया था. इसके कारण ब्रिटेन में स्वास्थ्य सेवाएं, फ्रांस और स्पेन में बड़े नेटवर्क, जर्मनी में रेल नेटवर्क, रूस में सार्वजनिक संस्थानों और चीन में विश्वविद्यालयों पर इसका असर दिखा था. जापान में करीब 600 कंपनियां इस हमले का शिकार हुई थीं.

रैनसमवेयर एक ऐसा मालवेयर है जो आपके सिस्टम में घुसकर सभी फाइलों को इनक्रिप्ट कर देता है. यूजर से इन फाइलों को दोबारा खोलने के लिए फिरौती की मांग की जाती है. आम तौर पर यह फिरौती बिटकॉइन में मांगी जाती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
जो बोलता हूं वो करता हूं- नितिन गडकरी से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi