S M L

ISRO की अंतरिक्ष में एक और उड़ान, सफलतापूर्वक लॉन्च किया संचार उपग्रह GSAT-31

GSAT-31 को फ्रेंच गुयाना के अंतरिक्ष केंद्र से रात दो बजकर 31 मिनट पर लॉन्च किया गया. इसके लॉन्च होने से संचार क्षेत्र को बड़ा फायदा होगा

Updated On: Feb 06, 2019 09:25 AM IST

FP Staff

0
ISRO की अंतरिक्ष में एक और उड़ान, सफलतापूर्वक लॉन्च किया संचार उपग्रह GSAT-31

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने अपने 40वें संचार उपग्रह जीसैट-31 (GSAT-31) को सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया है. इसे फ्रेंच गुयाना के अंतरिक्ष केंद्र से देर रात दो बजकर 31 मिनट पर लॉन्च किया गया.

अंतरिक्ष एजेंसी के अनुसार इस उपग्रह (Satellite) का जीवनकाल 15 साल का है. कक्षा के अंदर मौजूद कुछ उपग्रहों पर परिचालन संबंधी सेवाओं को जारी रखने में यह उपग्रह मदद मुहैया करेगा. साथ ही यह जियोस्टेशनरी कक्षा में केयू-बैंड ट्रांसपोंडर की क्षमता बढ़ाएगा.

इसको ने एक बयान में बताया कि 2,535 किलोग्राम वजनी इस उपग्रह को फ्रेंच गयाना में कुरू से एरिएन-5 (वीए247) के जरिए लॉन्च किया गया. उपग्रह जीसैट-31’ को इसरो के परिष्कृत I-2K बस पर स्थापित किया गया है. यह इसरो के पूर्ववर्ती इनसैट/जीसैट उपग्रह श्रेणी के उपग्रहों का उन्नत (विकसित) रूप है. यह उपग्रह भारतीय भू-भाग और द्वीप को कवरेज प्रदान करेगा.

इसरो ने यह भी कहा कि जीसैट-31 का इस्तेमाल सहायक V-Sat नेटवर्कों, टेलीविजन अपलिंक्स, डिजिटल उपग्रह समाचार जुटाने, DTH टेलीविजन सेवाओं, सेलुलर बैक हॉल संपर्क और इस तरह के कई ऐप्लीकेशन में किया जाएगा.

इसरो के अनुसार यह उपग्रह अपने व्यापक बैंड ट्रांसपोंडर की मदद से अरब सागर, बंगाल की खाड़ी और हिंद महासागर के विशाल समुद्री क्षेत्र के ऊपर संचार की सुविधा के लिए विस्तृत बीम कवरेज प्रदान करेगा.

(भाषा से इनपुट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi