S M L

गूगल अब नहीं करेगा यूजर्स के जीमेल की 'जासूसी'

इस बदलाव के बाद पर्सनलाइज ऐड के लिए कंज्यूमर का जीमेल कंटेंट स्कैन नहीं किया जाएगा

Updated On: Jun 26, 2017 06:58 PM IST

FP Staff

0
गूगल अब नहीं करेगा यूजर्स के जीमेल की 'जासूसी'

ऐड दिखाने के लिए गूगल अब यूजर्स के जीमेल अकाउंट पर नज़र नहीं रखेगा. गूगल ने स्टेटमेंट जारी कर यह बताया. कंपनी के मुताबिक, यूजर्स अब भी 'पर्सनलाइज' ऐड देख सकेंगे, लेकिन यह सर्च क्वेरी और ब्राउजिंग हैबिट पर आधारित होंगे. बता दें कि गूगल पर प्रॉफिट के लिए यूजर्स की प्राइवेसी खत्म करने जैसे आरोप लगते रहे हैं.

गूगल क्लाउड के वाइस प्रेसिडेंट डिएन ग्रीनी ने ब्लॉग पोस्ट में बताया कि फ्री जीमेल सर्विस में भी कॉर्पोरेट जी-सूट जीमेल जैसी प्रैक्टिस फॉलो की जाएगी. उन्होंने कहा, 'इस बदलाव के बाद पर्सनलाइज ऐड के लिए कंज्यूमर का जीमेल कंटेंट स्कैन नहीं किया जाएगा.'

ऐड दिखाने के लिए करता था अकाउंट स्कैन 

ऐड दिखाने के लिए गूगल यूजर्स के जीमेल अकाउंट स्कैन करता था. मेल या चैट में इस्तेमाल की-वर्ड्स के आधार पर गूगल यूजर्स को पर्सनलाइज ऐड दिखाता है. बता दें कि प्राइवेसी एक्टिविस्ट लंबे समय से गूगल द्वारा कंटेंट स्कैनिंग का विरोध कर रहे थे.

अगर आप जानना चाहते हैं कि गूगल कैसे ऐड कस्टमाइज करता है, तो आप गूगल अकाउंट सेटिंग्स में जाएं और ऐड सेक्शन सेलेक्ट करें. आपके सामने उन सभी टॉपिक्स की लिस्ट आ जाएगी, जो सर्च हैबिट और ब्राउजिंग के आधार पर गूगल ने चुने हैं.

साभार: न्यूज़18 हिंदी

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi