the telegraph Latest & Breaking News Hindi

MeToo: एम.जे. अकबर को वर्षों तक अपने दामन में छिपाए रखने के लिए हम पत्रकार दोषी नहीं?

देशOct 18, 2018

MeToo: एम.जे. अकबर को वर्षों तक अपने दामन में छिपाए रखने के लिए हम पत्रकार दोषी नहीं?

अगर पत्रकारिता के पेशे को अपनी गलती में सुधार की ईमानदार कोशिश करनी है तो उसे पहले इस सच्चाई का सामना करना होगा कि युवा महिला पत्रकारों के प्रति अपनी जिम्मेदारी के निर्वाह में यह पेशा बुरी तरह नाकाम रहा.

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

ट्रेंडिंग

Stumps

3rd Test, DAY 3: South Africa 132/8Theunis de Bruyn on strike