In association with

ख़याल गायकी Latest & Breaking News Hindi

क्या वाकई अमीर खुसरो ना होते तो ख़याल गायकी ना होती!

संस्कृतिJul 2, 2017

क्या वाकई अमीर खुसरो ना होते तो ख़याल गायकी ना होती!

ख़याल गायकी को ध्रुपद और ठुमरी के बीच की शैली माना गया है

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

ट्रेंडिंग