S M L

Youth Olympic Games 2018: तबाबी ने रचा इतिहास, ओलिंपिक मेडल जीतने वाली भारत की पहली जुडोका बनी

भारत ने अभी तक सीनियर या जूनियर किसी भी स्‍तर पर जूडो में कभी ओलिंपिक मेडल नहीं जीता

Updated On: Oct 08, 2018 01:56 PM IST

FP Staff

0
Youth Olympic Games 2018: तबाबी ने रचा इतिहास, ओलिंपिक मेडल जीतने वाली भारत की पहली जुडोका बनी

भारत की तबाबी देवी थांगजाम ने सोमवार को इतिहास रचते हुए यूथ ओलिंपिक गेम्‍स में जूडो में सिल्‍वर मेडल अपने नाम कर लिया है. ओलिंपिक स्‍तर पर जूडो में यह भारत का पहला मेडल है. मणिपुर की एशियाई कैडेट चैम्पियन तबाबी देवी को फाइनल में वेनेजुएला की मारिया जिमिनेज ने 11- 0 से हराया. भारत ने अभी तक सीनियर या जूनियर किसी भी स्‍तर पर जूडो में कभी ओलिंपिक मेडल नहीं जीता. तबाबी देवी ने सेमीफाइनल में क्रोएशिया की विक्टोरिया पुलिजिच को 10-0 से हराया था, उससे पहले उसने भूटान की यांगचेन वांगमो को 10-0 से मात दी थी.  इस सिल्‍वर के साथ इस यूथ ओलिंपिक में भारत के दो मेडल हो गए हैं. इससे पहले तुषार माने में भारत को निशानेबाजी में सिल्‍वर दिलाकर भारत का खाता खोला था.

स्विमिंग ने नेशनल चैंपियन श्रीहरि नटराज पुरूषों के 100 मीटर बैकस्ट्रोक के लिए क्वालीफाई नहीं कर सके. वह सेमीफाइनल में नवें स्थान पर रहे नटराज ने 56. 48 सेकंड का समय निकाला जो हीट्स के 56. 75 सेकंड से बेहतर था. भारत ने 2014 में नानजिंग में हुए यूथ गेम्‍स में भारत ने एक सिल्‍वर और एक ब्रॉन्‍ज  मेडल जीता था. भारत ने 2010 में छह सिल्‍वर और दो ब्रॉन्‍ज  मेडल जीते थे. भारत के 47 खिलाड़ी इन खेलों में भाग ले रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi