S M L

विश्व महिला शतरंज चैंपियनशिप: हम्पी का अभियान खत्म, अब देश को हरिका से उम्मीदें

महिला विश्व चैंपियनशिप 64 खिलाड़ियों के नॉकआउट प्रारूप से शुरू हुई जिसके खिताबी मुकाबले में डी हरिका एकमात्र भारतीय बची है

Updated On: Nov 08, 2018 01:54 PM IST

FP Staff

0
विश्व महिला शतरंज चैंपियनशिप: हम्पी का अभियान खत्म, अब देश को हरिका से उम्मीदें
Loading...

भारतीय ग्रैंडमास्टर कोनेरू हम्पी विश्व महिला शतरंज चैंपियनशिप के दूसरे दौर के दूसरे गेम में पोलैंड की जोलोटा जावाद्का से हार कर टूर्नामेंट से बाहर हो गई और इसी के साथ उनका अभियान भी यही पर समाप्त हो गया. महिला विश्व चैंपियनशिप  64 खिलाड़ियों के नॉकआउट प्रारूप से शुरू हुई जिसके खिताबी मुकाबले में डी हरिका एकमात्र भारतीय बची है.
हम्पी ने काले मोहरों से पहले गेम में ड्रॉ खेला. दूसरे गेम में हम्पी ने आक्रामक रुख अपनाया, लेकिन उनका दाव उलटा पड़ गया और 78 चाल के बाद जावाद्का ने उन्हें हार मानने पर मजबूर कर दिया.हरिका ने दूसरे गेम में जार्जिया की बेला खोतेनाश्विली से ड्रॉ खेला और अब उनके मुकाबले का फैसला टाई ब्रेकर के जरिये होगा. हरिका पहले गेम काले मोहरों से खेल रही थी, लेकिन जीत नहीं सकी. दूसरे गेम में सफेद मोहरों से खेलते हुए उन्होंने अंत तक कोशिश की, लेकिन जीत दर्ज नहीं कर सकी. हरिका इस चैम्पियनशिप की दो बार कांस्य पदक विजेता रही है.
अनुभवी खिलाड़ी हम्पी को अब एक बार फिर अगले विश्व चैंपियनशिप के लिए दो साल का लंबा इंतजार करना पड़ेगा. भारतीय ग्रैंडमास्टर ने पोलैंड की खिलाड़ी के सामने तकनीकी गलतियां की, जिसका नुकसान उन्हें भुगतना पड़ा। ज्वादस्का ने 78 चाल के बाद अपना मुकाबला जीता।

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi