S M L

वर्ल्‍ड बैडमिंटन चैंपियनशिप: सिंधु और श्रीकांत की अगुआई में चुनौती पेश करेगी भारतीय टीम

जहां सिंधु की नजर मेडल का रंग बदलने पर है, वहीं श्रीकांत मेडल की तलाश में उतरेंगे

Updated On: Jul 29, 2018 07:07 PM IST

FP Staff

0
वर्ल्‍ड बैडमिंटन चैंपियनशिप: सिंधु और श्रीकांत की अगुआई में चुनौती पेश करेगी भारतीय टीम

ओलिंपिक सिल्‍वर मेडलिस्‍ट पीवी सिंधु और कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स के सिल्‍वर मेडलिस्‍ट किंदाबी श्रीकांत की अगुआई में भारतीय टीम सोमवार से शुरू हो वर्ल्‍ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में अपनी चुनौती पेश करेगी. पिछले बार की वर्ल्‍ड चैंपियनशिप की सिल्‍वर मेडलिस्‍ट सिंधु की नजरें इस बार अपने मेडल के रंग को बदलने पर होगी, वहीं श्रीकांत कर कोशिश लंबे समय से यहां मेडल जीतने के अपने सपने को इस बार पूरा करने की होगी.

फाइनल गंवाने के सिलसिले को तोड़ने उतरेगी सिंधु 

सिंधु का विश्व चैंपियनशिप में शानदार रिकॉर्ड है, उन्होंने 2013 और 2014 में ब्रॉन्‍ज मेडल, जबकि पिछले साल सिल्‍वर मेडल अपने नाम किया था. पिछले साल ग्लास्गो में फाइनल में नोजोमी ओकुहारा से वह 110 मिनट तक चले ऐतिहासिक मुकाबले में हार गई थी. सिंधु लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं और पिछले साल वह छह फाइनल में पहुंची थी, जिसमें से उसने इंडिया ओपन, कोरिया ओपन और सैयद मोदी अंतरराष्ट्रीय में जीत दर्ज की, लेकिन वह विश्व चैंपियनशिप, दुबई सुपर सीरीज और हांगकांग के फाइनल में हार गई थी.

इस सत्र में भी सिंधु इंडिया ओपन, कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स और थाईलैंड ओपन के फाइनल में पहुंची थी, लेकिन वह खिताब नहीं जीत सकी, लेकिन अब वह विश्व चैंपियनशिप के प्रदर्शन में सुधार करना चाहेंगी. सिंधु का सामना तीसरे दौर में कोरिया की सुंग जि हुन से हो सकता है, जिसकी बाधा पार करने के बाद उनके क्वार्टरफाइनल में गत चैम्पियन नोजोमी ओकुहारा से भिड़ने की संभावना है. सिंधु पहले मुकाबले में फितरियानी से भिड़ेंगी. कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में दो बार की चैम्पियन सायना  नेहवाल ने 2015 में सिल्‍वर और 2017 में ब्रॉन्‍ज मेडल जीता था. यह 28 वर्षीय खिलाड़ी स्विट्जरलैंड की सबरीना जाकेट या तुर्की की आलिये डेमिरबाग के खिलाफ अपना अभियान शुरू करेंगी, उन्हें तीसरे दौर और क्वार्टरफाइनल मैच में क्रमश: 2013 चैम्पियन थाईलैंड की रतचानोक इंतानोन और ओलिंपिक चैम्पियन कैरोलिना मारिन की चुनौती से जूझना होगा.

श्रीकांत को मिल सकता है  ली चोंग वेई के टूर्नामेंट से हटने का फायदा  

Srikanth Kidambi of India returns a shot against Son Wanho of South Korea during their men's singles semi-final match at the Indonesia Open badminton tournament in Jakarta on June 17, 2017. / AFP PHOTO / GOH Chai Hin

पुरुष  एकल में किदाम्बी श्रीकांत भी लंबे समय से यहां पदक जीतने के सपने को साकार करना चाहेंगे. पिछले सत्र में चार खिताब और इस साल कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में सिल्‍वर मेडल जीतने वाले श्रीकांत का सामना आयरलैंड के एनहाट एनगुएन से होगा. उनके तीसरे दौर में इंडोनेशिया के 13वें वरीय जोनाटन क्रिस्टी से भिड़ने की संभावना है. तीन बार के ओलिंपिक सिल्‍वर मेडलिस्‍ट मलेशिया के ली चोंग वेई ने खराब स्वास्थ्य के कारण टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया है, जिससे श्रीकांत इस मौके का फायदा उठाकर ड्रॉ में आगे पहुंचकर पदक जीत सकते हैं. एचएस प्रणॉय अपने अभियान की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया के अभिनव मनोटा के खिलाफ करेंगे. अन्य खिलाड़ियों में बी साई प्रणीत इस सत्र में खराब फाॅर्म में हैं लेकिन इस भारतीय को वॉकओवर मिला है, क्योंकि कोरिया के सोन वान हो ने हटने का फैसला किया है. समीर वर्मा को भी अपना शानदार प्रदर्शन करना होगा, वह शुरुआती दौर में फ्रांस के लुकास कोरवी के सामने होंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi