S M L

World Badminton Championship: रोमांचक मैच में 'शानदार कमबैक' से सिंधु ने तय किया फाइनल का रास्ता

शनिवार को 55 मिनट चले सेमीफाइनल मुकाबले में सिंधु ने यामागुची को 21-16, 24-22 से मात दी

FP Staff Updated On: Aug 04, 2018 10:29 PM IST

0
World Badminton Championship: रोमांचक मैच में 'शानदार कमबैक' से सिंधु ने तय किया फाइनल का रास्ता

भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु ने शानदार खेल का परिचय देते हुए वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश किया. सेमीफाइनल में जापान की अकाने यामागुची को मात देकर उन्होंने भारत के लिए सिल्वर मेडल पक्का कर लिया है. साल 2017 में सिंधु ने इस टूर्नामेंट में सिल्वर मेडल हासिल किया था जहां फाइनल में उन्हें नोजोमी ओकुहारा ने मात दी थी.

विश्व चैंपियनशिप में 2013 और 2014 में कांस्य पदक जीतने वाली 23 वर्षीय सिंधु रविवार को होने वाले फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन से भिड़ेंगी, जो दो बार की स्वर्ण पदक विजेता हैं. मारिन ने रियो ओलंपिक के फाइनल में सिंधु को हराकर स्वर्ण पदक जीता था. ओवरऑल मारिन का सिंधु के खिलाफ रिकॉर्ड 6-5 है. सिंधु ने इस साल जून में मलेशिया ओपन में स्पेनिश खिलाड़ी को हराया था.

शनिवार को 55 मिनट चले इस सेमीफाइनल मुकाबले में सिंधु ने यामागुची को 21-16,24-22 से मात दी. सिंधु दोनों गेम में शुरुआत में पीछे चल रही थीं, लेकिन दोनों ही बार उन्होंने कमाल का कमबैक करके जीत हासिल की.इस मैच से पहले सिंधु का यामागुची के खिलाफ रिकॉर्ड 6-4 था. इस साल दोनों का दो बार मुकाबला हुआ जिसमें उन्होंने एक-एक जीत दर्ज की.

अकाने यामागुची ने पहले ही सिंधु पर दबाव बनाना शुरू कर दिया था और लगातार पांच अंक हासिल कर पहले गेम में 5-0 की बढ़त हासिल की. सिंधु अपनी लय खोजने में लगी थीं और जल्‍द ही उन्‍होंने वापसी करके स्‍कोर 8-8 से बराबर किया. सिंधु ने शानदार क्रॉस कोर्ट स्‍मैशों की मदद से उन्होंने 16-12 की बढ़त हासिल कर ली थी. यामागुची ने वापसी करने की कोशिश की और  लगातार तीन अंक लेकर स्‍कोर को 19-16 कर दिया था, लेकिन इसके बाद सिंधु ने बिना कोई गलती किए दो अंक हासिल कर 20 मिनट में पहला गेम 21-16 से  अपने नाम कर लिया.

दूसरे गेम में भी यामागुची ने फिर बढ़त बना ली थी. एक समय यामागुची ने 18-12 की अच्‍छी बढ़त हासिल कर ली थी और उन्‍हें सिर्फ तीन अंक की जरूरत थी. इसके बाद सिंधु ने शानदार खेल दिखाया. सिंधु ने लगातार अंक हासिल करते हुए स्कोर 18-18 से बराबर कर लिया. इसके बाद हर अंक के लिए संघर्ष चला. यामागुची ने इसके बाद नेट्स पर गलतियां कीं जिसका फायदा उठाते हुए सिंधु ने दूसरा गेम 24-22 से अपने नाम किया फाइनल प्रवेश किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi