S M L

World Boxing Championship 2018: सुनहरा इतिहास रचने से सिर्फ एक कदम दूर मैरी कॉम

मैरी ने फाइनल में प्रवेश कर लिया है जहां उनका मुकाबला यूक्रेन की हेना ओखोता से होगा

Updated On: Nov 22, 2018 06:03 PM IST

FP Staff

0
World Boxing Championship 2018: सुनहरा इतिहास रचने से सिर्फ एक कदम दूर मैरी कॉम

सबकी उम्‍मीद एमसी मैरी कॉम ने नॉर्थ कोरिया की किम हयांग को 5-0 से मात देकर महिला विश्‍व मुक्‍केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल में जगह पक्‍की कर ली है. इसके साथ वह इतिहास रचने से सिर्फ एक कदम दूर हैं. फाइनल में उनका मुकाबला यूक्रेन की हेना ओखोता से होगा, जिन्‍होंने सेमीफाइनल में जापान की वाडा को हराया.

मैरी का यह 7वां पदक होगा . उनके छह पदकों में पांच गोल्ड और एक सिल्वर है.मैग्निफिसेंट मैरी के नाम से मशहूर मणिपुर की मुक्केबाज अगर शनिवार को गोल्ड जीतने में कामयाब होती हैं, तो वो क्यूबा के फेलिक्स सैवॉन की बराबरी कर लेंगी. पुरुष वर्ग में क्यूबाई मुक्केबाज वर्ल्ड चैंपियनशिप के इतिहास में सबसे कामयाब है. सैवॉन ने तीन ओलिंपिक गोल्ड भी जीते हैं. उसके अलावा वर्ल्ड चैंपियनशिप के हैवीवेट वर्ग में 1986 से 1989 के बीच छह गोल्ड और एक सिल्वर जीते थे.

मैरी कॉम के लिए साल अच्छा रहा है. उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था. उसके अलावा इंडिया ओपन और पोलैंड में हुए इंटरनेशनल टूर्नामेंट में भी गोल्ड जीता था. टूर्नामेंट में पहला बाउट जीतने के बाद मैरी ने कहा था, ‘देश और फैन्स को गोल्ड चाहिए और मैं भी इसी की कोशिश कर रही हूं. लेकिन बॉक्सिंग बाउट में कुछ भी हो सकता है.’ भारत की दस सदस्यीय टीम के तीन और बॉक्सर अंतिम चार में हैं. ये तीनों युवा हैं और पहली बार वर्ल्ड चैंपियनशिप का हिस्सा बने हैं.

पहला राउंड: कोरियन खिलाड़ी ने ओपन गार्ड के साथ आक्रामक शुरुआत की और मैरी पर हावी होने की कोशिश की. इस राउंड में कोरियन खिलाड़ी ने मैरी का संतुलन  बिगाड़ने भी कोशिश की, लेकिन भारत की इस दिग्‍गज खिलाड़ी ने खुद को बखूबी संभाला और आखिरी के क्षणों में कुछ अच्‍छे पंच जड़े.

दूसरा राउंड: इस राउंड में मैरी ने थोड़ी रणनीति बदली. राउंड में शुरुआत क्षण में वह डिफेंडिंग मूड में नजर आई, लेकिन अगले ही पल लो गार्ड के साथ विपक्षी को अंदर आने का न्‍यौता देते हुए अटैक किए. दूसरे राउंड में उनके शानदार जैब ने जजों को जरूर प्रभावित किया.

तीसरा राउंड: इस राउंड में दोनों की ओर से सिर्फ पंचों की बारिश हुई, लेकिन भारतीय मुक्‍केबाज ने कोरियन खिलाड़ी के मुकाबले सटीक पंच लगाए. हालांकि इस राउंड में मैरीकॉम को विपक्षी खिलाड़ी के सिर के पीछे अटैक करने पर दो बार चेतावनी दी गई. मैरी ने अपना आक्रामक रुख जारी रखा और जजों को प्रभावित करने में सफल रही.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi