S M L

विंटर ओलिंपिक 2018: सामने आया इस साल का तीसरा डोपिंग मामला

स्लोवेनिया के आइस हॉकी खिलाड़ी जिगा जेगलिक ड्रग परीक्षण में नाकाम रहे और उन्हें निलंबित कर दिया गया है

Bhasha Updated On: Feb 21, 2018 10:27 AM IST

0
विंटर ओलिंपिक 2018: सामने आया इस साल का तीसरा डोपिंग मामला

स्लोवेनिया के आइस हॉकी खिलाड़ी जिगा जेगलिक ड्रग परीक्षण में नाकाम रहे और उन्हें निलंबित कर दिया गया है.

जिगा जेगलिक इस ओलिंपिक में डोपिंग में नाकाम रहने वाले तीसरे खिलाड़ी हैं. खेल पंचाट (सीएएस) ने यह जानकारी दी. इससे पहले कर्लिंग स्पर्धा में रूस के कांस्य पदक विजेता खिलाड़ी और जापान के शॉर्ट ट्रैक स्पीड स्केटर को डोपिंग में नाकाम रहने के बाद ओलिंपिक से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया.

सीएएस ने अपने बयान में कहा कि जेगलिक का परीक्षण प्रतिबंधित फेनोटेरोल के उपयोग के लिए पॉजीटिव पाया गया और इसके बाद उन्हें 24 घंटे के अंदर खेल गांव छोड़ने के लिए कहा गया. फेनोटेरोल को सांस संबंधी बीमारी के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है. सीएएस ने कहा ‘जेगलिक ने डोपिंगरोधी नियमों के उल्लंघन को स्वीकार कर दिया है और उन्हें वर्तमान शीतकालीन ओलिंपिक खेलों के बाकी मैचों से निलंबित कर दिया गया है.’

वैंकुवर 2010 की चैंपियन टेसा वर्चू और स्कॉट मोइर की जोड़ी को फ्रांस की गैब्रिएला पापदाकिस और गुइलायुम सिजरोन से कड़ी चुनौती मिली जिन्होंने फ्री डांस में खुद का रिकार्ड तोड़ा. लेकिन वर्चू और मोइर ने स्केटिंग में पूरा दम लगाया और 122.40 अंक बनाकर जीत सुनिश्चित की. इन दोनों का कुल स्कोर 206.07 अंक रहा और उन्होंने फ्रांसीसी जोड़ी (205.28 अंक) को बेहद करीबी अंतर से हराया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi