S M L

अब विंबलडन में लंबे नहीं खिंचेंगे मुकाबले... अगले साल से होगा यह बदलाव

इस नए नियम के साथ ही बदल जाएगा विंबलडन के मुकाबलों का नजारा

Updated On: Oct 20, 2018 09:39 AM IST

FP Staff

0
अब विंबलडन में लंबे नहीं खिंचेंगे मुकाबले... अगले साल से होगा यह बदलाव
Loading...

विंबलडन में अब एक नया बदलाव होने जा रहा है.  अगले साल से सभी इवेंट्स में पहली बार अंतिम सेट में टाईब्रेक लागू करेगा लेकिन इसे निर्णायक सेट में स्कोर 12-12 पर पहुंचने के बाद ही अपनाया जाएगा

ऑल इंग्लैंड लॉन टेनिस क्लब ने शुक्रवार को कहा, ‘हमारा नजरिया है कि निर्णायक सेट के दौरान जो मैच एक निश्चित वक्त पर परिणाम तक नहीं पहुंचते हैं उनमें टाईब्रेक लागू करने का समय आ गया है

 

 

दरअसल अमूमन किसी सेट में स्कोर 6-6 होने पर टाईब्रेक खेला जाता है लेकिन अभी तक केवल यूएस ओपन ही एकमात्र ऐसा ग्रैंडस्लैम है जहां पांचवें सेट में भी टाईब्रेक का उपयोग किया जाता है.

इस साल विंबलडन में मेंस फाइनल में केविन एंडरसन सीधे सेटों में नोवाक जोकोविच से हार गये थे जबकि इससे पहले उन्होंने जॉन इसनर को साढ़े छह घंटे में हराया था. इस मैच में पांचवां सेट उन्होंने 26-24 से जीता था और इसके बाद दो दिन से भी कम समय में उन्हें फाइनल खेलना पड़ा था.

क्लब के चेयरमैन फिलिप ब्रूक ने कहा, ‘हम जानते हैं कि अंतिम टेस्ट में बहुत कम मैच लंबे खिंचते हैं लेकिन हमें लगता है कि 12-12 पर टाईब्रेक करने से खिलाड़ियों को आगे बढ़ने के लिये पर्याप्त अवसर मिलेगा और इससे मैच के स्वीकार्य समयसीमा पर भी समाप्त होगा. ‘

अमेरिका के इसनर और फ्रांस के निकोलस माहूट के बीच 2010 में विंबलडन इतिहास का सबसे लंबा मैच खेला गया था. इसका पांचवां सेट इसनर ने 70-60 से जीता था और यह मैच 11 घंटे से भी अधिक समय तक चला था.

(एजेंसी इपुट के साथ)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi