S M L

Wimbledon 2018, women's semi final: सेरेना की नजर खिताब पर और दुनिया की उन पर

गुरुवार को सेरेना विलियम्स - जूलिसा जॉर्जिस और एंजेलिक कर्बर- येलेना ओस्तापेंको के बीच महिला वर्ग का सेमीफाइनल मुकाबला खेला जाएगा

FP Staff Updated On: Jul 11, 2018 07:53 PM IST

0
Wimbledon 2018, women's semi final: सेरेना की नजर खिताब पर और दुनिया की उन पर

मां बनने के बाद लंबे समय बाद कोर्ट पर लौटी दिग्गज खिलाड़ी सेरेना विलियम्स गुरुवार को जब ग्रास कोर्ट पर जर्मनी की जुलिया जॉर्जिस के सामने सेमीफइनल मुकाबले में उतरेंगी, तो उनकी नजर अपने 24वें गैंडस्लैम से ज्यादा खुद को साबित करने की होगी. मां बनने के बाद शरीर के हुए बदलाव और बढ़ती उम्र के कारण उनको संन्यास लेने की सलाह देने वाले लोगों को जवाब देने के इरादे से उतरेंगी. हालांकि दुनिया की पूर्व शीर्ष खिलाड़ी ने ग्रैंड स्लैम में वापसी करते हुए इसी साल फ्रेंच ओपन में उतरी, लेकिन चोट के चलते उनका सफर ज्यादा आगे तक नहीं बढ़ पाया. विंबलडन में उन्होंने प्रवेश किया और उनकी 181वीं रैंकिंग  विवादित रही. इन सबके बावजूद सेरेना ने अपनी लय को बरकरार रखा और अपने 24वें खिताब से सिर्फ दो कदम ही दूर है. महिला एकल वर्ग का पहला सेमीफाइनल सेरेना और जॉर्जिस के बीच होगा, वहीं दिन के दूसरे सेमीफाइनल में जर्मनी की एंजेलिक कर्बर का सामना लताविया की येलेना ओस्तापेंको से होगा.

  सेरेना बनाम जॉर्जिस

23 ग्रैंडस्लैम खिताब अपने नाम कर चुकी सेरेना ने क्वार्टर फाइनल में इटली की केमिला जियाजी को तीन सेट तक चले मुकाबले में 3-6, 6-3, 6-4 से हराकर अंतिम 4 में जगह बनाई थी, वहीं जॉर्जिस ने नीदरलैंड की कीकि बर्टी को 3-6, 7-5, 6-1 से हराकर पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम के सेमीफाइनल में प्रवेश किया. दिन के पहले मुकाबले में देखा जाए तो भले ही सेरेना ने लंबे समय बाद वापसी की हो, लेकिन जॉर्जिस पर वह पूरी तरह से भारी है. जॉर्जिस अपने पहले ग्रैंडस्लैम की तलाश में है,ग्रास कोर्ट पर सेमीफाइनल खेलना उनके करियर का अभी तक का सर्वश्रेष्ठ है. इससे पहले 13वीं वरीयता प्राप्त यह जर्मन खिलाड़ी तीन बार आॅस्ट्रेलियन ओपन के चौथे राउंड तक ही पहुंच पाई. फ्रेंच ओपन में 2015 में एक बार चौथे राउंड से आगे का सफर तय नहीं कर पाई. वहीं यूएस ओपन में 2017 में चौथे राउंड तक ही पहुंची. वहीं सेरेना के नाम सिंगल में 23 ग्रैंडस्लैम है. आॅस्ट्रेलियन ओपन में 7, फ्रेंच ओपन में 3, विंबलडन में 7 और यूएस ओपन में 6 बार खिताब अपने नाम किया.

  कर्बर बनाम ओस्तापेंको

Germany's Angelique Kerber celebrates after winning against Russia's Daria Kasatkina during their women's singles quarter-final match on the eighth day of the 2018 Wimbledon Championships at The All England Lawn Tennis Club in Wimbledon, southwest London, on July 10, 2018. Kerber won the match 6-3, 7-5. / AFP PHOTO / Daniel LEAL-OLIVAS / RESTRICTED TO EDITORIAL USE

दिन के दूसरे सेमीफाइनल में विश्व की पांचवीं वरीयता प्राप्त येलेना ओस्तोपेंको का सामना एंजेलिक कर्बर से होगा. जहां येलेना की कोशिश अपने करियर के एक ओर ग्रैंडस्लैम जोड़ने है, वहीं कर्बर 2016 में मिली हार को इस बार जीत के बदलना चाहेगी. येलेना ने पिछले साल फ्रेंच ओपन के रूप में अपने करियर का पहला ग्रैंडस्लैम जीता था, वहीं दो बार की ग्रैंडस्लैम विजेता कर्बर 2016 में ग्रास कोर्ट पर खिताब जीतने के काफी करीब थी, उन्होंने सेमीफाइनल में बड़ी बहन वीनस विलियम्स को हराकर खिताबी मुकाबले में जगह बनाई थी, लेकिन फाइनल में छोटी बहन सेरेना विलियम्स ने उनका ख्वाब तोड़ दिया और इस बार उनकी कोशिश एक बार फिर फाइनल में पहुंच उस हार को जीत में बदलने की रहेगी. कर्बर ने 2016 में आॅस्ट्रेलियन ओपन और यूएस ओपन अपने नाम किया. ओस्तोपेंको का ग्रास कोर्ट पर इस सीजन में अभी तक का सफर अच्छा रहा और उन्होंने सभी मुकाबले में सीधे सेटो में आसानी से जीते, वहीं कर्बर को राउंड 64, प्री क्वार्टर में अच्छी चुनौती मिली थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi