S M L

Wimbledon 2018: फेडरर की नजर खिताब बचाने पर, तो सेरेना को अब भी है अपने 'कमबैक' का इंतजार

विंबलडन के 150वें सीजन में सेरेना विलियम्स अपने आठवां खिताब जीतने उतरेगी तो फेडरर की नजरें अपने नौवें खिताब पर होंगी

Updated On: Jul 02, 2018 09:23 AM IST

FP Staff

0
Wimbledon 2018: फेडरर की नजर खिताब बचाने पर, तो सेरेना को अब भी है अपने 'कमबैक' का इंतजार

फेडरर ने पिछले साल फाइनल में मारिन चिलिच को हराकर रिकॉर्ड आठवां खिताब जीता था. इससे वह टूर्नामेंट के सबसे उम्रदराज चैंपियन भी बने थे. यह जीत उन्हें पूरे क्लेकोर्ट सत्र में नहीं खेलने के बाद मिली थी और यही रणनीति उन्होंने इस बार भी अपनायी है. इस बीच इस 37 वर्षीय स्विस खिलाड़ी ने राफेल नडाल को रिकॉर्ड 11वां फ्रेंच ओपन खिताब जीतने हुए देखा जो अब विंबलडन में भी अपनी शानदार फॉर्म जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं. विंबलडन की लगतार दो बार चैंपियन रही सेरेना की गैरमौजूदगी में पिछले साल स्पेन की गारबाइन मुगुरुजा सेरेना की बहन वीनस विलियम्स को शिकस्त देकर चैंपियन बनी थी.

सेरेना 18वीं बार विंबलडन में हिस्सा ले रही है और इस टूर्नामेंट के 150वें साल में वह अपना आठवां विंबलडन खिताब जीतना चाहेगी. सेरेना ने हाल ही में फ्रेंच ओपन के जरिए पहला ग्रैंड स्लैम खेला था जहां कंधे की चोट कारण उन्हें चौथे दौर के मुकाबले से पहले ही टूर्नामेंट से हटना पड़ा था. इस मैच में उनका सामना पुरानी प्रतिद्वंद्वी मारिया शारापोवा से होना था. वहीं चोट के कारण करीब 11 महीने टेनिस से दूर रहे दो बार के विंबलडन विजेता एंडी मर्रे को पुरुष सिंगल्स में कोई वरीयता नहीं दी गई. मर्रे का कोर्ट में उतरना अभी तक तय नहीं है.

Tennis - French Open - Roland Garros, Paris, France - May 29, 2018   Serena Williams of the U.S in action during her first round match against Czech Republic's Kristyna Pliskova  REUTERS/Christian Hartmann     TPX IMAGES OF THE DAY - RC198BAC4EA0

रोमानिया की फ्रेंच ओपन विजेता सिमोना हालेप को महिला सिंगल्स में शीर्ष एवं डेनमार्क की कैरोलाइन वोज्नियाकी को दूसरी वरीयता दी गई है जबकि आठ बार के विंबलडन विजेता रोजर फेडरर को पुरुष सिंगल्स में शीर्ष और मौजूदा फ्रेंच ओपन विजेता राफेल नडाल को दूसरी वरीयता मिली है.

टूर्नामेंट के सिंगल्स वर्ग में भारतीय दरोमदार युकी भांबरी होगा जो अभियान की शुरूआत पुराने प्रतिद्वंद्वी इटली के थॉमस फाबियानो के खिलाफ मैच से करेंगे. इस मेजर ग्रास कोर्ट टूर्नामेंट के डबल्स मुकाबलों के ड्रॉ में छह भारतीय खिलाड़ियों को शामिल किया गया है. युकी इटली के इस खिलाड़ी के खिलाफ तीन बार खेले हैं लेकिन हर बार उन्हें निराशा हाथ लगी है. पिछली बार दोनों खिलाड़ियों का सामना नॉटिंघम चैलेंजर प्रतियोगिता 2017 में हुआ था. पहली बार डबल्स में उतरेंगे छह भारतीय

डबल्स में, शायद पहली बार छह भारतीय खिलाड़ियों को ग्रैंडस्लैम में खेलने का मौका मिल रहा है. डेब्यू कर रहे विष्णु वर्धन और श्रीराम बालाजी अपने अभियान की शुरूआल वेस्ले कुल्लोफ और मार्कस डेनियल के खिलाफ करेंगे. रोहन बोपन्ना और उनके फ्रांसिसी साथी एडवर्ड रोजर-वेसेलिन की 12वीं वरीय जोड़ी का सामना एलेक्स डि मिनौर और जॉन मिलमैन से होगा. पूरव राजा और फैबराइस मार्टिन की जोड़ी पहले दौर में दुसान लाजोविच और मिर्जा बेसिक के खिलाफ कोर्ट में उतरेगी. लगातार दूसरी बार विंबलडन खेल रहे बाएं हाथ के जीवन नेदुनचेझियान और उनके अमेरिकी जोड़ीदार ऑस्टिन क्राजिसेक की जोड़ी पहले दौर में सैंडर अरेंड्स और माटवे मिडेलकूप की जोड़ी से भिड़ेंगी. दिविज शरण और न्यूजीलैंड के उनके जोड़ीदार अर्टेम सिताक का सामना राडू अलबोट और मालेक जॉजिरी से होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi