S M L

विंबलडन 2017: आसान जीत के साथ वीनस, नडाल, मरे तीसरे दौर में

ब्रिटेन की दो महिला खिलाड़ियों ने पहली बार अंतिम 32 में जगह बनाई

Updated On: Jul 06, 2017 02:22 PM IST

FP Staff

0
विंबलडन 2017: आसान जीत के साथ वीनस, नडाल, मरे तीसरे दौर में

विंबलडन के तीसरे दिन राफेल नडाल, एंडी मरे, वीनस विलियम्स आसान जीत के साथ अगले दौर में पहुंच गए. केई निशिकोरी और जोहान्ना कोंटा को तीसरे दौर में पहुंचने के लिए पसीना बहाना पड़ा.

मरे ने जर्मनी के डस्टिन ब्राउन को 6-3,6-2,6-2 से हराकर जीत दर्ज की. हालांकि इस मैच में विजेता मरे से ज्यादा ब्राउन के तेज शॉट्स ने कमेंटेटर के साथ दर्शकों को भी हैरान कर दिया. धीमे चले मैच में एकाएक उन्होंने 153 किमी प्रति घंटे से बैकहैंड क्रोस कोर्ट शॉट खेला जिसने मरे के साथ वहां मौजूद सभी को हैरान कर दिया. मैच के बाद मरे ने उनकी जमकर तारीफ की.

वहीं नडाल का मुकाबला अमेरिका के डोनाल्ड यंग से था. नडाल यंग को 6-4,6-2,7-5 से मात देकर अगले दौर में पहुंच गए. वह 2014 के बाद पहली बार तीसरे दौर में पहुंचे हैं. अगर नडाल फाइनल में पहुंचते हैं तो वह एक बार फिर नंबर एक खिलाड़ी बन जाएंगे.

नडाल अगले दौर में 30वीं वरीय कारेन खाचानोव से भिडेंगे. वहीं मरे का सामना इटली के फाबियो फोगिनि से होगा.

जापान के नौंवे वरीय निशिकोरी को यूक्रेन के क्वालिफायर सरगेई स्टाखोवस्की को 6-4,6-7,6-1,7-6 से हराने में पसीना बहाना पड़ा.

महिलाओं में दसवीं वरीय वीनस विलियम्स ने चीन की कियेंग वेंग को 6-4,4-6,1-6 से हराकर अगले दौर में प्रवेश किया. विक्टोरिया अजारेंका ने मां बनने के बाद वापसी करने के बाद पहली जीत दर्ज की. पूर्व नंबर एक खिलाड़ी अजारेंका दिसंबर में अपने पहले बच्चे लियो को जन्म देने के बाद अपना पहला टूर्नामेंट खेल रही हैं,  उन्होंने रूस की 15वीं वरीय एलीना वेसनिना को पस्त किया. 2012 और 2013 में ऑस्ट्रेलियन ओपन चैंपियन ने रूसी खिलाड़ी को 6-3,6-4 से मात दी.

अब वह ब्रिटेन की वाइल्डकार्डधारी हीथर वाटसन से भिड़ेंगी. दुनिया की 102वीं नंबर की खिलाड़ी ने लातिविया की 18वीं वरीय अनास्तासिया सेवास्तोवा को सीधे सेटों में मात दी.

ब्रिटेन की छठी वरीय कोंटा ने दोन्ना वेकिच पर 7-6,4-6,10-8 जीत दर्ज की. 3 घंटे 10 मिनट तक चले इस मैच को बहुत संघर्ष के साथ योहाना कोंटा ने जीता और इसके साथ ही वह पहली बार विंबलडन के तीसरे दौर में पहुंच गई. इस मैच के बाद 12 बार ग्रैंड स्लेम विजेता रही बिली जीन किंग ने ट्वीट करके दोनों की तारीफ की.

इस तरह ब्रिटेन की दो महिला खिलाड़ियों ने पहली बार अंतिम 32 में जगह बनाई. 1977 के बाद से किसी भी महिला ब्रिटिश खिलाड़ी ने विंबलडन नहीं जीता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi