S M L

तुर्की में राष्ट्रीय हीरो का दर्जा प्राप्त था वेटलिफ्टर नईम सुलेमानोग्लू को

तीन ओलंपिक पदक जीतने वाले पॉकेट हरक्यूलिस का 50 वर्ष की उमर में हुआ निधन

Updated On: Nov 19, 2017 05:35 PM IST

FP Staff

0
तुर्की में राष्ट्रीय हीरो का दर्जा प्राप्त था वेटलिफ्टर नईम सुलेमानोग्लू को

तीन ओलंपिक पदक जीतने वाले तुर्की के भारोत्तोलक नईम सुलेमानोग्लू को राष्ट्रीय हीरो का दर्जा प्राप्त था. नईम का जन्म बुल्गारिया में एक पारंपरिक तुर्की परिवार में हुआ था. लेकिन ऑस्ट्रेलिया में अभ्यास करने के दौरान 1986 में उन्होंने तुर्की में बसने का फैसला किया. लेकिन उनके एडाप्टेड देश ने उनकी उपलब्धियों को देखते हुए उन्हें भरपूर मान सम्मान दिया.

पॉकेट हरक्यूलिस के नाम से मशहूर नईम सुलेमानोग्लू का शनिवार को 50 वर्ष की उमर में निधन हो गया. उन्होंने इंस्ताबुल के अस्पताल में अंतिम सांस ली. वह लीवर सिरोसिस से पीड़ित थे. अक्टूबर में उनका लीवर ट्रांसप्लांट हुआ था.

नईम सुलेमानोग्लू को ओलंपिक इतिहास के महान एथलीटों में शुमार किया जाता है. पॉकेट हरक्यूलिस का निक नेम उन्हें छोटे कद और बेशुमार ताकत के लिए मिला था.

नईम सुलेमानोग्लू ने तुर्की के लिए लगातार तीन 1988, 1992 और 1996 ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीते थे. उनका कद महज चार फुट, 10 इंच था और उनका वजन 135 पौंड था. बुल्गारिया में जन्में नईम अपने वजन से तीन गुना अधिक भार उठाते थे.

नईम सुलेमानोग्लू ने 2000 सिडनी ओलंपिक में अपने चौथे स्वर्ण पदक के लिए प्रयास किया था. लेकिन अपने तीनों प्रयास में असफल रहने के बाद उन्होंने संन्यास ले लिया था. ओलंपिक खेलों के अलावा भी नईम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी सफल रहे. उन्होंने सात बार विश्व और छह बार यूरोपियन चैंपियनशिप जीती.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi