S M L

टाटा ओपन महाराष्ट्र टेनिस : युकी भांबरी करेंगे भारतीय युवाओं की चुनौती की अगुआई

दुनिया के छठे नंबर के खिलाड़ी मारिन चिलिच प्रबल दावेदार के रूप में करेंगे शुरुआत

Updated On: Dec 31, 2017 07:48 PM IST

FP Staff

0
टाटा ओपन महाराष्ट्र टेनिस : युकी भांबरी करेंगे भारतीय युवाओं की चुनौती की अगुआई

युकी भांबरी की अगुआई में भारत के युवा खिलाड़ियों के पास सोमवार से पुणे में शुरू हो रहे पहले टाटा ओपन महाराष्ट्र टेनिस टूर्नामेंट में हालात का फायदा उठाकर नए सत्र की शानदार शुरुआत करने का मौका होगा. जबकि विंबलडन के फाइनल में जगह बनाने वाले दुनिया के छठे नंबर के खिलाड़ी मारिन चिलिच प्रबल दावेदार के रूप में शुरुआत करेंगे.

घरेलू खिलाड़ियों की राह आसान नहीं होगी, लेकिन युकी और रामकुमार रामनाथन ने 2017 में शीर्ष खिलाड़ियों के खिलाफ प्रभावी प्रदर्शन किया जिससे उनके यहां अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जगी है. वित्तीय कारणों से चेन्नई से यहां स्थानांतरित हुए इस टूर्नामेंट के डबल्स में घरेलू खिलाड़ियों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है जहां मेजबान देश की चार जोड़ियां होंगी.

अक्टूबर 2015 से बालेवाड़ी खेल परिसर में कोई मैच नहीं गंवाने वाले युकी को पहले दौर में स्थानीय खिलाड़ी अर्जुन काधे का सामना करना है, जो ओकलाहोमा विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद इसी साल पेशेवर सर्किट में लौटे हैं और उनकी रैंकिंग 600 से भी नीचे है. मौजूदा फॉर्म को देखते हुए युकी के कम से कम क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने की उम्मीद की जा रही है. अर्जुन को हराने के बाद उन्हें दुनिया के 81वें नंबर के खिलाड़ी फ्रांस के पियरे ह्यूज हर्बर्ट का सामना करना पड़ सकता है.

अंताल्या ओपन में दुनिया के आठवें नंबर के खिलाड़ी डोमीनिक थिएम को हराने वाले रामकुमार को पहले दौर में स्पेन के दुनिया के 108वें नंबर के खिलाड़ी करबालेस बेइना का सामना करना है. पहले दौर की बाधा पार करने पर रामकुमार को सिलिच से भिड़ना पड़ सकता है और यह भारतीय खिलाड़ी के पास देश के सबसे बड़े टेनिस टूर्नामेंट में अपनी छाप छोड़ने का मौका होगा. सुमित नागल ने भी मुख्य ड्रॉ में जगह बना ली है.

पिछले साल चेन्नई ओपन के दूसरे सत्र में शिकस्त झेलने वाले  चिलिच का सत्र का अंत काफी खराब रहा और वह लंदन में सत्रांत एटीपी टूर फाइनल्स में अपने तीनों मैच हार गए. क्रोएशिया के  चिलिच टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे गत चैंपियन रोबर्टो बतिस्ता आगुत सहित लगभग सभी खिलाड़ियों को हरा चुके हैं और सेमीफाइनल से पहले उन्हें कड़ी टक्कर मिलने की संभावना काफी कम है.

दुनिया के 20वें नंबर के खिलाड़ी आगुत के सामने अपना खिताब बचाने का दबाव होगा क्योंकि सिंगल्स ड्रॉ में वह एकमात्र खिलाड़ी हैं जो 2017 सत्र में दो खिताब जीतने में सफल रहे. उन्होंने चेन्नई के अलावा विंसटन सलेम ओपन का खिताब जीता. एक अन्य दावेदार यूएस ओपन के फाइनल में जगह बनाने वाले दुनिया के 14वें नंबर के खिलाड़ी और दूसरे वरीय दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन हैं.

डबल्स में भारत को काफी उम्मीदें हैं जहां उसके नौ खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. अनुभवी लिएंडर पेस और उनके जोड़ीदार पूरव राजा का सामना गत चैंपियन रोहन बोपन्ना और जीवन नेदुनचेझियान से होगा.

(एजेंसी इनपुट के साथः

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi