S M L

सुल्तान अजलन शाह कप हॉकी: अब है सबसे बड़ा मुकाबला

तीसरे राउंड रॉबिन मैच में मंगलवार को भारत का मुकाबला पिछली चैंपियन ऑस्ट्रेलिया से

Updated On: May 01, 2017 05:59 PM IST

Bhasha

0
सुल्तान अजलन शाह कप हॉकी: अब है सबसे बड़ा मुकाबला

पहले मैच में ड्रॉ की निराशा. दूसरे में जीत की खुशी. इसके बाद अब सबसे बड़े मुकाबले की बारी है. इस मुकाबले में भरोसे के लिए पिछले मैच में शानदार जीत में अहम रोल अदा कर सकती है. भारतीय टीम सुल्तान अजलन शाह कप हॉकी के तीसरे राउंड रॉबिन मैच में मंगलवार को पिछली चैंपियंन ऑस्ट्रेलिया से खेलेगी.  उसका इरादा अपना प्रदर्शन ग्राफ बेहतर करने का होगा.

पहले मैच में ब्रिटेन से 2-2 से ड्रॉ खेलने के बाद भारत ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए न्यूजीलैंड को 3-0 से हराया. कीवी टीम ने अपने पहले मैच में विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को 1-1 से ड्रॉ पर रोका था. ऑस्ट्रेलिया ने रविवार के मैच में मेजबान मलेशिया को 6-1 से मात देकर अपनी बादशाहत फिर साबित की.

छह देशों के टूर्नामेंट में सबसे ऊपर रैंकिंग वाली दो टीमों भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच का मैच लीग चरण का सबसे अहम मुकाबला माना जा रहा है.

भारत के कोच रोलेंट ओल्टमंस ने कहा, ‘हम लगातार अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं. इपोह आने से पहले हमारा मकसद यही था. हम अच्छे नतीजे चाहते हैं.’ पहले मैच में गोल करने के मौके नहीं बना पाने के लिए स्ट्रॉइकर्स को आड़े हाथों लेने के बाद उन्होंने दूसरे मैच में उनके प्रदर्शन की सराहना की.

उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए सबसे जरूरी फॉरवर्ड और मिडफील्ड का तालमेल है. अब हमारी टीम में वह नजर आ रहा है. न्यूजीलैंड के खिलाफ फॉरवर्ड पंक्ति का प्रदर्शन बहुत अच्छा था. हमें अगले मैच में और सुधार करना होगा.’

ओल्टमंस ने कहा कि वह चाहते हैं कि डिफेंडर न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले क्वार्टर में अपने प्रदर्शन की समीक्षा करें जब उन्होंने विरोधी खिलाड़ियों को भीतर सेंध मारने के कई मौके दिए.

उन्होंने कहा, ‘ ईमानदारी से कहूं तो मैं पहले क्वार्टर में प्रदर्शन से खुश नहीं था. पता नहीं पहले क्वार्टर में इतनी गलतियां क्यों की गई.’

उन्होंने हालांकि खुशी जताई कि इसके बाद भारतीयों ने विरोधी टीम को गोल पर एक भी हमले का मौका नहीं दिया. उन्होंने कहा, ‘पहले क्वार्टर में की गई गलतियों के बाद हमने मैच पर पूरा नियंत्रण बना लिया.’  भारत ने पिछले मैच में सात पेनल्टी कॉर्नर बनाए जिनमें से दो को हरमनप्रीत सिंह ने गोल में बदला. हरमनप्रीत की तारीफ ऑस्ट्रेलियाई कोच कोलिन बैच ने भी की.

बैच ने कहा, ‘भारतीय आक्रमण का मजबूत पक्ष पेनल्टी कॉर्नर बन गया है. यह असल चुनौती है.’ दुनिया की छठे नंबर की टीम भारत और ऑस्ट्रेलिया को फाइनल का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. ऑस्ट्रेलिया नौ बार अजलन शाह कप जीत चुका है और विश्व रैंकिंग में दूसरे स्थान पर है. पिछले उपविजेता भारत ने पांच बार खिताब जीता है जिसमें से पिछली बार 2010 में खिताब अपने नाम किया था जब उसे दक्षिण कोरिया के साथ संयुक्त विजेता घोषित किया गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi