S M L

आर्चरी कोच जीवनजोत तेजा को नहीं मिलेगा द्रोणाचार्य अवॉर्ड, यह है वजह

तेजा उन पांच प्रशिक्षकों में शामिल थे जिनके नाम की सिफारिश द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए की गई थी

Updated On: Sep 19, 2018 08:16 PM IST

Bhasha

0
आर्चरी कोच जीवनजोत तेजा को नहीं मिलेगा द्रोणाचार्य अवॉर्ड, यह है वजह

तीरंदाजी कोच जीवनजोत सिंह तेजा का नाम अनुशासनहीनता के पुराने मामले के कारण बुधवार को द्रोणाचार्य पुरस्कारों के लिए नामितों की सूची से हटा दिया गया जबकि खेल मंत्रालय ने उन बाकी सभी नामों को मंजूरी दे दी जिनके नामों की की सिफारिश चयन समिति खेल रत्न, अर्जुन और ध्यानचंद पुरस्कारों के लिए की थी.

तेजा उन पांच प्रशिक्षकों में शामिल थे जिनके नाम की सिफारिश द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए की गई थी लेकिन कोरिया में विश्व विश्वविद्यालय खेलों के दौरान 2015 में अनुशासनहीनता की एक घटना के कारण उन पर एक साल का प्रतिबंध लगा था.

मंत्रालय के सूत्र ने कहा, ‘तेजा पर 2015 की एक घटना के कारण के कारण अनुशासनहीनता के लिए एक साल का प्रतिबंध लगा था. वह विश्व विश्विद्यालय खेलों में मुख्य तीरंदाजी कोच थे और महिला टीम समय पर प्रतियोगिता के लिए नहीं पहुंची थी और भारत को देर से पहुंचने के कारण मैच गंवाना पड़ा था. भारतीय तीरंदाजी संघ ने इस घटना के बाद उन पर एक साल का प्रतिबंध लगाया था.’

तीरंदाजी संघ के एक अधिकारी ने कहा कि अगर तेजा का नाम तीन साल पहले की इस घटना के आधार पर हटाया गया तो यह उनके साथ अन्याय होगा.

उन्होंने कहा, ‘यह सच है कि तेजा पर 2015 की घटना के बाद एक साल का प्रतिबंध लगा था लेकिन प्रतिबंध समाप्त होने के बाद उन्होंने अच्छे परिणाम दिए थे. अगर इस घटना के आधार पर उनका नाम हटाया गया है तो यह उनके साथ अन्याय है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi