live
S M L

जो 18 साल पहले हुआ, उसे दोहराया... टेनिस की कहानी जो भुला नही पाएंगे

ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचीं लुचिच, सेरेना से खेलेंगी

Updated On: Jan 25, 2017 05:11 PM IST

FP Staff

0
जो 18 साल पहले हुआ, उसे दोहराया... टेनिस की कहानी जो भुला नही पाएंगे

18 साल पहले पिछला ग्रैंड स्लैम सेमीफाइनल खेला था. तब उम्र थी 17 साल. अब करीब 35 की हैं. मिरयाना लुचिच ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल में जगह बनाई है. ये ऐसी कहानी है, जिसमें हर तरह का ड्रामा है. ड्रामा तो ऑस्ट्रेलियन ओपन में दिख ही रहा है, जहां सेमीफाइनल वेटरंस का मुकाबला बन गया है.

एक की उम्र करीब 35 साल, दूसरी 35 पार कर चुकी हैं. तीसरी 36 पार कर चुकी हैं. ऑस्ट्रेलियन ओपन के चार महिला सेमीफाइनलिस्ट में तीन की उम्र से उनके खेल का अंदाजा मत लगाइएगा. वीनस विलियम्स जून में 37 साल की हो जाएंगी. वो पहले ही अंतिम चार में पहुंच चुकी हैं. बुधवार को बारी सितंबर में 35 बरस पूरे करने वाली सेरेना और मार्च में 35 की हो रहीं मिरयाना लुचिच की थी. इन दोनों ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए अंतिम चार में जगह बनाई.

अपने 23वें ग्रैंड स्लैम टाइटल की ओर बढ़ रही सेरेना ने क्वार्टर फाइनल में ब्रिटेन की जोहना कोंटा को सीधे सेटों में 6-2, 6-3 से हराया. सेरेना का सेमीफाइनल में मुकाबला मिरयाना लुचिच बरोनी से होगा. उन्होंने पांचवीं सीड कैरोलिना प्लिस्कोवा को मात दी. गैर वरीय क्रोएशियाई खिलाड़ी ने 1999 के विंबलडन में सेमीफाइनल का सफर तय किया था.

लुचिच ने 6-4, 3-6, 6-4 से जीत दर्ज की. उसके बाद जश्न मनाते हुए वो आंसुओं में डूब गईं. वो खुद पर काबू नहीं रख पा रही थीं. उन्होंने कहा कि मुझे यकीन नहीं हो रहा. अभी मैं शॉक में हूं. लुचिच की कहानी बेहद नाटकीय है. 2003 से 2010 तक वह टेनिस से बाहर रहीं. पिता के अत्याचारों की वजह से परेशानी झेली. उसके अलावा चोट से त्रस्त रहीं. 1999 में 17 की उम्र में उन्होंने विंबलडन के सेमीफाइनल में जगह बनाई थी. 18 साल बाद वो किसी ग्रैंड स्लैम के अंतिम चार में पहुंची हैं.

79वीं वरीयता प्राप्त लुचिच ने तीसरी सीड एग्निएस्का रादवांस्का को हराते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई थी.

दूसरे मुकाबले में 35 साल की अमेरिकी स्टार खिलाड़ी सेरेना ने 75 मिनट तक चले मुकाबले में 10 ऐस लगाकर अंतिम चार में जगह बनाई. उनकी बहन वीनस पहले ही अंतिम चार में जगह बना चुकी हैं.

serena

नौवीं वरीयता प्राप्त कोंटा पिछले साल इस टूर्नमेंट के सेमीफाइनल में पहुंची थीं. उन्होंने सिडनी में खेले गए वॉर्म-अप टूर्नमेंट में जीत हासिल की थी. लेकिन विश्व नंबर दो सेरेना के आगे उनकी एक न चली. दूसरे सेट में वह केवल एक गेम ब्रेक कर सकीं.

कोंटा ने चौथे राउंड में एकातेरिना माकारोवा को 6-1, 6-4 से हरा दिया था. कोंटा ने इस मैच में जबदस्त प्रदर्शन किया और माकारोवा को मैच में एक भी बार पकड़ नहीं बनाने दी. और आसानी से मैच जीत कर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई थी.

2016 में ऑस्ट्रेलियन ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली कोंटा और सेरेना के बीच रोमांचक मुकाबले ही उम्मीद थी क्योंकि दोनों ही खिलाड़ी शानदार फॉर्म में चल रहे थे, लेकिन दर्शकों को एकतरफा मैच देखने को मिला. दूसरे सेमीफाइनल में वीनस विलियम्स का मुकाबला साथी अमेरिकी कोको वैंडवेघ से होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi