S M L

चार महीने पहले तक जिनके साथ खेलते थे अब उन्हीं की किस्मत का फैसला करेंगे सरदार सिंह!

पिछले साल सितंबर में संन्यास लेने वाले सरदार सिंह को हॉकी इंडिया ने बनाया सेलेक्टर

Updated On: Jan 15, 2019 10:44 PM IST

FP Staff

0
चार महीने पहले तक जिनके साथ खेलते थे अब उन्हीं की किस्मत का फैसला करेंगे सरदार सिंह!

आमतौर पर माना जाता है कि किसी भी खिलाड़ी के उस खेल को अलविदा कहने और फिर उसी खेल के प्रशासन में उतरने के बीच एक कूलिंग ऑफ पीरिय़ड भी होना जरूरी होता है. देश की सबसे रईस खेल संस्था यानी बीसीसीआई के नए संविधान में भी इसकी व्यवस्था की गई है लेकिन भारत मे हॉकी इंडिया ने इस मसले में एक नई मिसाल कायम कर दी है.

करीब चार महीने पहले ही यानी पिछले साल सितंबर में हॉकी से संन्यास लेने वाले पूर्व कप्तान सरदार सिंह को अब हॉकी इंडिया ने सलेक्शन कमेटी में शामिल कर लिया है. य़ानी सरदार सिंह चार महीने पहले जिन खिलाड़ियों के साथ फील्ड पर हॉकी खेला करते थे अब बतौर सेलक्टर उनके सेलेक्शन के फैसले में भागीदार होंगे.सरदार सिंह को हॉकी इंडिया की 13 सदस्यीय चयन समिति में शामिल किया गया है जिसके अध्यक्ष 1975 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य बी पी गोविंदा होंगे.

सरदार ने पिछले साल एशियाई खेलों के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद संन्यास ले लिया था.सरदार ने मंगलवार को पीटीआई से कहा, ‘हां, मुझे इस भूमिका की पेशकश की गयी और मैंने उसे स्वीकार कर लिया है. यह मेरे लिये नई चुनौती है और मैं किसी भी तरह से भारतीय हॉकी की सेवा करना चाहता हूं.

उन्होंने कहा, ‘यह पूरी तरह से अलग चुनौती और रोमांचक है. इतने वर्षों तक मैं खिलाड़ी रहा और अब मुझे नई भूमिका निभाने का मौका मिला है.’

चयनसमिति में हरबिंदर सिंह, सैयद अली, एबी सुब्बैया, आरपी सिंह, रजनीश मिश्रा, जायदीप कौर, सुरेंदर कौर, असुंता लाकड़ा, हाई परफॉरमेन्स निदेशक डेविड जॉन और सीनियर मेंस और  महिला टीमों के मुख्य कोच शामिल हैं.

बहरहाल सरदार सिंह को यह नई जिम्मेदारी भले ही चुनौतीपूर्ण लग रही हो लेकिन सवाल अब भी बरकरार है कि क्या रिटयरमेंट के महज चार महीने के ही भीतर किसी भी खिलाड़ी को सेलेक्टर बनाया जाना तटस्थता के लिहाज से वाजिब फैसला है या नहीं.

(With Agency Input)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi