S M L

एशिया कप जीतकर महिला हॉकी विश्व कप में जाना चाहेंगे : रानी रामपाल

क्वालीफाई करना अच्छी बात, लेकिन हम किसी और की मेहरबानी से नहीं जाना चाहते

Updated On: Nov 01, 2017 08:13 PM IST

Bhasha

0
एशिया कप जीतकर महिला हॉकी विश्व कप में जाना चाहेंगे : रानी रामपाल

भारतीय महिला हॉकी टीम ने भले ही अगले साल होने वाले विश्व कप के लिए क्वालिफाई कर लिया हो, लेकिन कप्तान रानी रामपाल ने कहा कि वे एशिया कप जीतकर अपने दम पर टूर्नामेंट में जगह बनाएंगे और इसके लिए फोकस टूर्नामेंट के नॉकआउट चरण पर है.

जापान के काकामिगहरा में चल रहे एशिया कप में भारत ने ग्रुप चरण में तीनों मैच जीतकर शीर्ष टीम के रूप में क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई जहां उसका सामना गुरुवार को कजाखस्तान से होगा. कजाखस्तान अपने तीनों लीग मैच गंवा चुका है.

वैसे दक्षिण अफ्रीका के अफ्रीकी कप ऑफ नेशंस फाइनल में घाना को 4-0 से हराने के बाद भारत ने विश्व कप के लिए पहले ही क्वालिफाई कर लिया, लेकिन कप्तान रानी का कहना है कि टीम इस तरीके से हॉकी के महासमर में जगह नहीं बनाना चाहती.

रानी ने काकामिगहरा से कहा, ' क्वालिफाई करना अच्छी बात है, लेकिन हम चाहते हैं कि एशिया कप जीतकर अपने दम पर इसमें जगह बनाएं. किसी और की मेहरबानी से नहीं जाएं. हम इसके लिए पूरी मेहनत कर रहे हैं और हमारे जज्बे में कोई कमी नहीं आएगी.'

उन्होंने ग्रुप चरण के प्रदर्शन को भुलाकर टीम को अगले महत्वपूर्ण मैचों पर फोकस करने के लिए कहा है. ग्रुप चरण में भारत ने सिंगापुर को 10-0 से, चीन को 4-1 से और मलेशिया को 2-0 से हराया.

रानी ने कहा, ' हमारा प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा, लेकिन अब वह बीती बात हो गई. उसे भुलाकर अगले मैचों पर फोकस करना है. हमारे लिए कोई प्रतिद्वंद्वी आसान नहीं है और हर टीम जीतने के लिए ही खेलती है. गुरुवार के मैच के जरिए हम अगले मैच की रणनीति बनाएंगे.'

पिछले साल लखनऊ में जूनियर हॉकी विश्व कप में भारत को खिताबी जीत दिलाने वाले कोच हरेंद्र सिंह का महिला टीम के साथ यह पहला टूर्नामेंट है. रानी ने कहा कि उनके आने से टीम पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है और उन्होंने टीम को चैंपियनों वाले तेवर दिए हैं.

उन्होंने कहा, 'हरेंद्र सर विश्व चैंपियन टीम के कोच रह चुके हैं. उनके आने से काफी फर्क पड़ा है. वह बेसिक्स पर फोकस करते हैं और उम्मीद है कि आगे भी टीम इसी आत्मविश्वास के साथ अच्छा खेलती रहेगी. हमारे पुराने कोच भी हमें अच्छे मुकाम पर छोड़कर गए थे लिहाजा भारतीय महिला हॉकी का भविष्य उज्जवल दिख रहा है.'

एशिया कप टीम में यूरोप दौरे पर गई टीम की तुलना में पांच बदलाव किए गए थे. रानी ने इस टीम को युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण बताया. उन्होंने कहा, ' हमने रोटेशन प्रणाली के तहत युवाओं को मौका दिया है. यह टीम युवा और अनुभवी खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण है और सीनियर खिलाड़ी अपनी जिम्मेदारी बखूबी समझती हैं. हमें आगे भी इस लय को कायम रखने की उम्मीद है,'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi