S M L

भारतीय क्रिकेटरों के डोप टेस्ट के बारे में वाडा करेगा फैसला : राठौड़

राठौड़ ने कहा ,‘मुझे खुशी है कि बाहरी एजेंसी क्रिकेट में डोपिंग नियंत्रण कर रही है'

Updated On: Nov 19, 2017 04:26 PM IST

Bhasha

0
भारतीय क्रिकेटरों के डोप टेस्ट के बारे में वाडा करेगा फैसला : राठौड़

खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि बीसीसीआई राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी (नाडा) के जरिए भारतीय क्रिकेटरों का डोप टेस्ट करा सकता था, लेकिन अब यह विश्व डोपिंग निरोधक एजेंसी (वाडा) की जिम्मेदारी है कि वह भारतीय बोर्ड से अपनी आचार संहिता का पालन कराए. राठौड़ ने यह जवाब तब दिया जब उनसे बीसीसीआई के बारे में पूछा गया कि क्या नाडा को भारतीय क्रिकेटरों का डोप टेस्ट कराने का कोई अधिकार नहीं है.

राठौड़ ने कहा ,‘मुझे खुशी है कि बाहरी एजेंसी क्रिकेट में डोपिंग नियंत्रण कर रही है. लेकिन जब देश की सभी खेल इकाइयां और कुछ दूसरे देश भी हमारी राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी पर विश्वास कर रहे हैं तो क्रिकेटर भी कर सकते थे.’

उन्होंने  कहा ,‘हम वाडा पर छोड़ते हैं. यह उनका काम है. चूंकि आईसीसी का रजिस्ट्रेशन वाडा के तहत हुआ है लिहाजा उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि वे क्रिकेटरों का डोप टेस्ट कराए.’ उन्होंने कहा कि भारतीय क्रिकेटरों के डोप टेस्ट का मामला सुलझ सकता है. उन्होंने कहा ,‘हमें उससे कोई समस्या नहीं है. हमें कई खेलों का ध्यान रखना है और हमें सभी खेलों पर गर्व है.’

नाडा को कड़े जवाब में बीसीसीआई ने कहा था कि सरकार को भारतीय क्रिकेटरों का डोप टेस्ट कराने का अधिकार नहीं है. आठ नवंबर को नाडा प्रमुख नवीन अग्रवाल को लिखे पत्र में बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी ने कहा था कि नाडा को भारतीय क्रिकेटरों का टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि बीसीसीआई राष्ट्रीय खेल महासंघ नहीं है और उसकी मौजूदा डोपिंग निरोधक व्यवस्था बेहतरीन है.

राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में पुरुषों के 74 किलो वर्ग में तीन विरोधियों से वॉकओवर पाने के बाद दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार के गोल्ड मेडल जीतने के बारे में पूछने पर राठौड़ ने कहा कि यह उनके अधिकार क्षेत्र का मसला नहीं है. उन्होंने कहा ,‘खेल में सभी को वापसी का अधिकार है और खासकर सुशील ने खेल को बहुत कुछ दिया है. टूर्नामेंट किस तरीके से कराए जाते हैं , यह मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं है.’ उन्होंने कहा ,‘इस पर नजर रखने के लिए महासंघ है. मुझे यकीन है कि महासंघ इससे वाकिफ है और सभी के प्रति निष्पक्ष रहा होगा.’

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi