In association with
S M L

वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में हारीं सिंधु, जीता सिल्वर मेडल

सिंधु को ओकहारा के खिलाफ 19-21, 22-20, 20-22 से हार झेलनी पड़ी

FP Staff Updated On: Aug 27, 2017 10:40 PM IST

0
वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में हारीं सिंधु, जीता सिल्वर मेडल

ओलिंपिक सिल्वर मेडल विजेता भारत की पीवी सिंधु को विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के महिला सिंगल फाइनल में जापान की नोजोमी ओकहारा के खिलाफ रोमांचक मैच में शिकस्त के साथ सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा और साथ ही वह इस खेल में देश की पहली विश्व चैंपियन बनने से भी चूक गई.

दुनिया की चौथे नंबर की भारतीय खिलाड़ी सिंधु को एक घंटा और 50 मिनट चले मुकाबले में दुनिया की 12वें नंबर की खिलाड़ी और ओलिंपिक कांस्य पदक विजेता ओकुहारा के खिलाफ 19-21, 22-20, 20-22 से हार झेलनी पड़ी.

दोनों खिलाड़ी पहली बार वर्ल्‍ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहंची थीं. ओकहारा ने इससे पहले सेमीफाइन में भारत की ही एक अन्य दिग्गज खिलाड़ी सायना नेहवाल को हराया था.

सायना ने कांस्य पदक जीता और इस तरह भारत के लिए यह विश्व चैंपियनशिप यादगार रही और देश इतिहास रखते हुए पहली बार इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में दो पदक जीतने में सफल रहा.

ओकहारा विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली जापान की पहली महिला खिलाड़ी बनीं. दोनों के बीच यह सातवीं भिड़ंत थी, जिसमें जापानी खिलाड़ी ने चौथी बार बाजी मारी. सिंधु ने रियो ओलिंपिक और इसी साल सिंगापुर ओपन में ओकहारा को मात दी थी.

हालांकि सिंधु पहली बार इस चैंपियनशिप में भारत को स्वर्ण दिलाने का इतिहास नहीं रच सकीं, लेकिन एक इतिहास रचने में सफल रहीं. ऐसा पहली बार हुआ है जब भारत को विश्व चैंपियनशिप में दो पदक मिले हों. सायना नेहवाल ने शनिवार को कांस्य पदक जीता था.

पहला गेम काफी रोमांचक रहा. ओकहारा ने पहला अंक लिया, लेकिन सिंधु ने तुरंत बराबरी की. कुछ देर तक सिलसिला ऐसे ही चलता रहा और एक समय स्कोर 5-5 से बराबर था.

सिंधु ने यहां से बढ़त बनाना शुरू की और पहले गेम के हाफ तक 11-5 से आगे निकल गईं, लेकिन ब्रेक के बाद ओकहारा ने सिंधु पर दबाव बनाना शुरू किया और सिंधु ने गलतियां करनी शुरू कर दीं. ओकहारा 14-11 से आगे हो गई थीं. हालांकि सिंधु ने हार नहीं मानी और स्कोर 14-14 से बराबर कर लिया.

लेकिन ओकहारा ने लगातार चार अंक लेकर एक बार फिर 18-14 की बढ़त ले ली. सिंधु ने स्कोर 19-19 से बराबर किया, लेकिन अपनी गलती से वह एक अंग गंवा बैठी और जापानी खिलाड़ी को बढ़त दे दी, जिसका फायदा उन्होंने उठाया और पहला गेम जीत ले गईं.

दूसरे गेम की शुरुआत में सिंधु हावी रहीं. उन्होंने 5-2 की बढ़त ले रखी थी. इस बढ़त को उन्होंने ब्रेक तक कायम रखा और 11-8 कर लिया, लेकिन एक बार फिर जापानी खिलाड़ी ने वापसी की और लगातार अंक लेकर एक समय स्कोर 17-18 कर लिया.

सिंधु ने यहां से तीन लगातार अंक लिए और स्कोर 20-17 कर लिया. दूसरा गेम उनकी झोली में लग ही रहा था कि वह तीन लगातार शॉट्स नेट पर मार बैठीं और ओकहारा ने 20-20 से बराबरी कर ली। सिंधु ने हालांकि गलती सुधारी और लगातर दो अंक लेकर 22-20 से गेम अपने नाम कर मैच को तीसरे गेम में पहुंचा दिया.

तीसरा गेम बेहद रोमांचक रहा. ओकहारा 4-1 से आगे थीं. सिंधु ने हार नहीं मानी और बेहतरीन वापसी कर स्कोर 5-5 से बराबर कर लिया. यहां से दर्शकों के बेहतरीन खेल देखने को मिला. यहां से दोनों खिलाड़ियों के बीच एक-एक अंक के लिए कठिन मशक्कत शुरू हुई, जो 20-20 तक चली.

यहां से ओकहार ने सिंधु की गलती और थकान का फायदा उठाया और बाजी मार ले गईं

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
जापानी लक्ज़री ब्रांड Lexus की LS500H भारत में लॉन्च

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi