Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

प्रो कबड्डी लीग 2017: हार की हैट्रिक के बाद आखिरकार मुंबई को नसीब हुई जीत

मुंबई ने बुधवार को खेले गए मैच में हरियाणा स्टीलर्स को 32-28 से मात दी

FP Staff Updated On: Aug 30, 2017 10:27 PM IST

0
प्रो कबड्डी लीग 2017: हार की हैट्रिक के बाद आखिरकार मुंबई को नसीब हुई जीत

प्रो-कबड्डी लीग सीजन-5 में बुधवार को यू-मुम्बा को लंबे इंतजार के बाद घरेली मैदान पर जीत नसीब हुई अपने तीन घरेलू मैच हारने और एख मैच रद्द हो जाने के बाद इसे जीत मिली. मुंबई ने बुधवार को खेले गए मैच में हरियाणा स्टीलर्स को मात दी. उसने साख की लडाई जीतते हुए चौथा मैच 38-32 से जीत लिया.

टॉस मुंबई ने जीता और हरियाणा स्टीलर्स पहले रेड करने आई हरियाणा. रेड मारने आए सुरजीत को आउट कर मुंबई ने अपना खाता खोला. इसके बाद वजीर सिंह ने रेड में सफलता हासिल करते हुए दो अंक लेकर हरियाणा को 2-1 से बढ़त दिला दी.

काशीलिंग अदाके और श्रीकांत जाधव के लगातार प्रयास की बदौलत मुंबई ने 6-2 से बढ़त ले ली. अपनी टीम को मजबूती देते हुए काशीलिंग ने डू ऑर डाई रेड में सफलता हासिल कर मुंबई को 9-4 से आगे कर दिया.

मुंबई के पास हरियाणा को ऑल आउट करने का मौका था, लेकिन दर्शन कादियान ने ऐसा नहीं होने दिया और स्कोर 9-11 किया. मुंबई ने आखिरकार 12वें मिनट में हरियाणा को ऑल आउट कर 18-10 से बढ़त ले ली. ऐसा पहली बार हुआ इस सत्र में जब हरियाणा ऑलआउट हुई. इस लीड को कायम रखते हुए हाफ टाइम तक मुंबई ने स्कोर 20-15 से अपने पक्ष में रखा.

दूसरे हाफ में एक समय ऐसा था जब मुंबई ऑल आउट की कगार पर पहुंच गई थी. डिफेंडर कुलदीप ने उस समय सुपर टेकल मारते हुए बचाया और स्कोर 23-16 कर दिया. दीपक कुमार दहिया ने सफल रेड मारते हुए हरियाणा के अंतर को कम करने की कोशिश की.

अंकों के अंतर को कम होता देखा हरियाणा की टीम अपने बेहतरीन डिफेंस के दम पर काशीलिंग को आउट कर स्कोर 25-24 किया. हालांकि, इस दौरान उनके रेडर विकास खंडोला चोटिल हो गए और उन्हें स्ट्रेचर पर मैट से बाहर ले जाया गया. 30वें मिनट में हरियाणा की तरफ से रेड मारने आए दीपक ने स्कोर स्कोर 27-27 से बराबर कर मैच को रोमांचक बना दिया.

यहां से मैच बराबरी का हो गया था. मुंबई ने फिर 32-30 की बढ़त ले ली और फिर सुपर टैकल लगाते हुए स्कोर 34-30 कर दिया.

मैच की समाप्ति में दो मिनट का समय शेष रह गया था. मुंबई 36-32 से आगे थी. हरियाणा ने काफी कोशिश की लेकिन वह अंकों के अंतर को पाट नहीं पाई और मैच हार गई.

इस मैच में जो चीज मुंबई के लिए अच्छी थी वह था उसका डिफेंस. बहुत समय बाद इस सत्र में टीम के डिफेंस ने अच्छा खेल दिखाया. अनूप कुमाक को भी शायद इस जीत के साथ कुछ राहत मिली होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi