S M L

सिलेसियान ओपन मुक्केबाजी टूर्नामेंट: मैरी कॉम ने जीता देश के लिए इकलौता गोल्ड मेडल, सरिता और ज्योति को ब्रॉन्ज

भारतीय जूनियर मुक्केबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया, उन्होंने छह गोल्ड, छह सिल्वर और एक ब्रॉन्ज से कुल 13 मेडल अपने नाम किए

Updated On: Sep 16, 2018 09:23 PM IST

Bhasha

0
सिलेसियान ओपन मुक्केबाजी टूर्नामेंट: मैरी कॉम ने जीता देश के लिए इकलौता गोल्ड मेडल, सरिता और ज्योति को ब्रॉन्ज

पांच बार की विश्व चैंपियन एम सी मैरी कॉम (48 किलोग्राम) ने शनिवार को वर्ष का अपना तीसरा गोल्ड जीता, जबकि ज्योति गुलिया (51 केजी) ने पोलैंड के ग्लीवाइस में महिलाओं के 13वें सिलेसियान ओपन मुक्केबाजी टूर्नामेंट के युवा वर्ग में भारत के लिए इकलौता गोल्ड मेडल अपने नाम किया.

इस टूर्नामेंट में जूनियर खिलाड़ियों ने 13 मेडल जीते जबकि पूर्व विश्व चैंपियन एल सरिता देवी (60 किग्रा) ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया. मैरी कॉम का मुकाबला कजाखिस्तान की एगेरिम कसानायेवा से था. मैरी कॉम ने इस वर्ष दो अन्य गोल्ड दिल्ली में इंडिया ओपन और गोल्ड कोस्ट में कॉमनवेल्थ गेम्स में जीते थे.

पूर्व युवा चैंपियन ज्योति ने पोलैंड की तातियाना प्लुटा को फाइनल बाउट के दूसरे दौर में ही जीत दर्ज कर ली. अगले महीने अर्जेंटीना में होने वाले युवा ओलिंपिक के लिए क्वालिफाइ करने वाली देश की इकलौती 17 साल की इस मुक्केबाज ने अपनी विरोधी खिलाड़ी को कोई मौका नहीं दिया. शुक्रवार को सरिता के अलावा लवलिना बोरगोहेन (69 किग्रा) और पूजा रानी (81 किग्रा) का अभियान भी सेमीफाइनल में ही समाप्त हुआ.

इससे पहले भारतीय जूनियर मुक्केबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया. उन्होंने छह गोल्ड, छह सिल्वर और एक ब्रॉन्ज से कुल 13 मेडल अपने नाम किए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi