S M L

कोसोवो की महिला बॉक्सर के वीजा का मसला हुआ और पेचीदा, भारत को मिली चेतावनी

एशियन ओलिंपिक काउंसिल के प्रमुख ने खेल मंत्री राठौड़ को लिखी कड़ी चिट्ठी

Updated On: Nov 16, 2018 05:47 PM IST

FP Staff

0
कोसोवो की महिला बॉक्सर के वीजा का मसला हुआ और पेचीदा, भारत को मिली चेतावनी

दिल्ली में आयोजित हो रही महिला बॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप में कोसोवो की बॉक्सर को बॉक्सर को वीजा ना देने का मसला अब तूल पकड़ता दिख रहा है.

एशियाई ओलिंपिक परिषद (ओसीए) ने भारत को चेतावनी दी है कि कोसोवो की मुक्केबाज दोनजेता सादिकू को भागीदारी से रोकने के कारण भारत भविष्य में बड़ी प्रतियोगिताएं जैसे ओलिंपिक, एशियाई खेलों की मेजबानी का मौका गंवा सकता है. भारत कोसोवो को मान्यता नहीं देता इसलिए उसने सादिकू को वीजा देने से इनकार कर दिया है.

खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ और भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरेंदर सिंह बत्रा को कड़े शब्दों में लिखे पत्र में ओसीए के अध्यक्ष शेख अहमद अल फहद अल सबाह ने स्पष्ट किया कि सादिकू को वीजा नहीं देने का प्रभाव आगे देखने को मिल सकता है.

ओसीए ने अपने पत्र में लिखा, ‘इस घटना से भारत के बड़ी अंतरराष्ट्रीय खेल स्पर्धाओं और अन्य बड़े टूर्नामेंट जैसे ओलिंपिक और एशियाई खेलों की मेजबानी पर संदेह बन गया है.’

उन्होंने उदाहरण दिया कि जैसे स्पेन कोसोवो को मान्यता नहीं देता, लेकिन इसके बावजूद उसके खिलाड़ियों को उस देश में हुई खेल प्रतियोगिता में भाग लेने की अनुमति दी वैसे ही भारत को भी फैसला लेना चाहिए.

उन्होंने राठौड़ और बत्रा को ओलिंपिक घोषणापत्र के नियमों की याद दिलाई है. उन्होंने लिखा, ‘आप ओलंपिक चार्टर और ओसीए संविधान से वाकिफ हैं, आयोजन समिति की जिम्मेदारी है कि वह बिना भेदभाव के बड़ी चैंपियनशिप में हर योग्य एथलीट का प्रवेश सुनिश्चित कराए.’

(With Agency Input)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi