S M L

National Wrestling Championships : विनेश और साक्षी पर नजरें, चोटिल बजरंग भाग नहीं लेंगे

विनेश के पास जहां अपनी फिटनेस परखने का मौका होगा तो साक्षी खुद को साबित करना चाहेंगी

Updated On: Nov 29, 2018 09:10 PM IST

FP Staff

0
National Wrestling Championships : विनेश और साक्षी पर नजरें, चोटिल बजरंग भाग नहीं लेंगे

गोंडा के नंदिनी नगर स्पोटर्स कॉम्पलेक्स में शुक्रवार से शुरू हो रहीं पुरुष और महिला राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियनशिप में देश के लगभग सभी बड़े खिलाड़ी अपना दम दिखाएंगे. पुरुषों की यह 63वीं राष्ट्रीय चैंपियनशिप है तो वहीं महिलाओं की 21वीं सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप है. ओलिंपिक रजत पदक विजेता साक्षी मलिक से लेकर राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली विनेश फोगाट शिरकत करेंगी. एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले पुरुष पहलवान बजरंग पूनिया हालांकि चोट के कारण नहीं खेलेंगे.

विनेश के पास जहां अपनी फिटनेस परखने का मौका होगा तो साक्षी खुद को साबित करना चाहेंगी. विनेश को कोहनी की चोट के कारण अंतिम समय पर बुडापेस्ट में विश्व चैंपियनशिप से हटना पड़ा. वह जकार्ता-पालेमबांग एशियाई खेलों में ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीतने के बाद शानदार फॉर्म में थीं. विनेश दमदार पहलवानों में से एक हैं और अगर वह फिट हैं तो उन्हें किसी भी पहलवान से परेशानी नहीं होगी. रेलवे की यह पहलवान 50 किग्रा के बजाय 57 किग्रा में भाग लेंगी, जिसमें उन्होंने इस सत्र में तीन स्वर्ण पदक अपने नाम किए हैं.

अपने वजन वर्ग को बदलने के बारे में पूछने पर विनेश ने पीटीआई से कहा, ‘राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए मैं वजन कम नहीं करूंगी. यहां प्रतिस्पर्धा इतनी मजबूत नहीं होगी और अगले कुछ महीनों में मुझे कुछ अहम टूर्नामेंट खेलने हैं इसलिए मुझे उनमें अपने वजन को लगातार समान रखना होगा.’ 24 साल की इस पहलवान ने कहा कि एशियाई खेलों के बाद लगी चोट के कारण उनका काफी समय बर्बाद हो गया है जिससे उनका राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेना काफी महत्वपूर्ण है.

62 किग्रा में साक्षी और गीता फोगाट के बीच मुकाबला

वहीं रियो ओलिंपिक खेलों में ऐतिहासिक कांस्य पदक जीतने के बाद साक्षी का करियर ग्राफ काफी नीचे चला गया. वह गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में कम मजबूत दावेदारों के बावजूद कांस्य पदक ही जीत सकी थीं, जबकि एशियाई खेलों से खाली हाथ लौटी थीं. विश्व चैंपियनशिप से भी वह बुरी तरह हारकर बाहर हुई थीं. 62 किग्रा में साक्षी और गीता फोगाट के बीच मुकाबला रहेगा. बुडापेस्ट में कांस्य पदक का प्ले ऑफ हारने वाली ऋतु मलिक 65 किग्रा में जबकि रेलवे की नवजोत कौर 68 किग्रा में भाग लेंगी.

India's Sushil Kumar reacts after defeating Kazakhstan's Akzhurek Tanatarov on the Men's 66Kg Freestyle wrestling at the ExCel venue during the London 2012 Olympic Games August 12, 2012. REUTERS/Suhaib Salem (BRITAIN - Tags: OLYMPICS SPORT WRESTLING) - LM2E88C0SJZA2

सुशील कुमार ने भी टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया

साक्षी की तरह दो बार के ओलिंपिक पदकधारी सुशील कुमार भी फॉर्म से जूझ रहे हैं और उन्होंने भी चोटिल बजरंग पूनिया की तरह टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया है. उनके अलावा संदीप तोमर भी नहीं खेलेंगे. उनकी अनुपस्थिति से राष्ट्रीय प्रतियोगिता की चमक थोड़ी फीकी हो गई है, लेकिन इससे 74 किग्रा और 65 किग्रा में नए पहलवानों के सामने आने में मदद मिल सकती है. जितेंदर कुमार और विनोद अच्छे विकल्प हैं लेकिन सुशील की जगह उन्हें खुद को मजबूत दावेदार के रूप में साबित करना होगा. जितेंदर 77 किग्रा जबकि विनोद 74 किग्रा में दावेदार होंगे.

टूर्नामेंट के शुरुआती दिन ही दिए जाएंगे अनुबंध 

इस साल की राष्ट्रीय चैंपियनशिप इसलिए भी अहम है क्योंकि अनुबंध भी टूर्नामेंट के शुरुआती दिन ही दिए जाएंगे, भारतीय कुश्ती संघ अनुबंध के सात वर्गों के पहलवानों की सूची शामिल करेगा जिसमें सबसे ज्यादा राशि ए वर्ग में 30 लाख रुपए होगी. चैंपियनशिप का समापन दो दिसंबर को हो रहा है। इसमें 27 राज्यों और दो संस्थानों से 800 पहलवान और अधिकारी हिस्सा लेंगे.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi