S M L

आखिर क्यों पुलिस वाले बॉक्सर को बेचनी पड़ गई कुल्फी!

रविवार रात को हर जगह यह खबर चलाई गई की हरियाणा के अर्जुन अवॉर्डी बॉक्सर दिनेश कुमार गरीबी के चलते भिवानी में कुल्फी बेचने को मजबूर हैं

Updated On: Oct 29, 2018 05:20 PM IST

FP Staff

0
आखिर क्यों पुलिस वाले बॉक्सर को बेचनी पड़ गई कुल्फी!
Loading...

रविवार को अचानक हर जगह यह खबर आने लगी कि हरियाणा के अर्जुन अवॉर्डी बॉक्सर दिनेश कुमार गरीबी के चलते कुल्फी बेच रहे हैं. दिनेश2008 के बीजिंग ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्तव कर चुके हैं. हालांकि बॉक्सर की जो तस्वीर जारी हो रही थी और जो रिकॉर्ड उनके नाम के साथ बताए जा रहे थे वो बता रहे थे कि शायद कहानी वैसी नहीं है जैसी दिख रही है.

कहानी में लिखा गया कि बॉक्सर ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. साथ ही वह एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल भी जीत चुके हैं. जिस बॉक्सर के नाम यह सभी रिकॉर्ड दर्ज है वो हरियाणा पुलिस में अच्छी रैंक पर काम करते हैं जो नौकरी उन्हें उनके प्रदर्शन के चलते ही मिली है. इसके बाद ,साफ किया गया कि यह पुलिस बॉक्सर कुल्फी नहीं बेच रहे हैं. गरीबी के कारण यह काम करने के लिए मजबूर होने वाले बॉक्सर भी दिनेश कुमार हैं लेकिन वह नेशनल लेवल बॉक्सर है.

हरियाणा को देश के उन राज्यों में शामिल किया जाता है जो अपने खिलाड़ियों की हर तरीके से मदद करने के लिए तैयार रहते हैं. अपने एथलीटों को वह आर्थिक मदद से लेकर लोगों की खेलों में रुचि बनाए रखने के लिए भी हर तरह से कोशिश करते हैं. हरियाणा राज्य अपने खिलाड़ियों के लिए कई तरह की योजनाएं चला रहा है खासकर उनके लिए जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व करते हैं. ऐसे में अगर कोई कहे कि हरियाणा का एक अर्जुन अवॉर्डी बॉक्सर गरीबी के चलते कुल्फी बेचने को तैयार है तो हैरानी तो होगी ही. ऐसा ही कुछ रविवार रात को हुआ.

गलती समझ आते ही इसमें सुधार किया गया.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi