S M L

नरिंदर बत्रा बने भारतीय ओलिंपिक संघ के नए अध्यक्ष

राजीव मेहता फिर चार साल के लिए महासचिव चुने गए

FP Staff Updated On: Dec 14, 2017 10:50 PM IST

0
नरिंदर बत्रा बने भारतीय ओलिंपिक संघ के नए अध्यक्ष

इंटरनेशनल हॉकी फेडरेशन यानी एफआईएच अध्यक्ष नरिंदर बत्रा भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के अगले अध्यक्ष बन गए हैं. गुरुवार को चुनाव हुए, लेकिन यह महज औपचारिकता भर थे. बत्रा भारी बहुमत से अगले चार साल के लिए अध्यक्ष चुने गए, जबकि राजीव मेहता फिर महासचिव चुन लिए गए. बत्रा को 142 वोट मिले, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी अनिल खन्ना को 13 वोट मिले.

60 बरस के बत्रा महत्वपूर्ण इंटरनेशनल फेडरेशन के अध्यक्ष पद पर काबिज होते हुए राष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष बनने वाले चुनिंदा प्रशासकों में शामिल हो गए. बत्रा इससे पहले हॉकी इंडिया के अध्यक्ष रह चुके हैं. आनंदेश्वर पांडे कोषाध्यक्ष और आरके आनंद सीनियर उपाध्यक्ष चुने गए. आनंद ने जेएस गहलौत को 35 के मुकाबले 96 मतों से हराया.

बत्रा का चुनाव औपचारिकता मात्र था, क्योंकि एशियाई टेनिस महासंघ के अध्यक्ष अनिल खन्ना ने पिछले सप्ताह दौड़ से नाम वापस ले लिया था. अनिल खन्ना का फैसला नाम वापस लेने की आखिरी तारीख के बाद आया था. इस वजह से चुनाव हुए. खन्ना ने आईओए चुनाव आयोग को पत्र लिखकर चुनाव से हटने के अपने फैसले से अवगत कराया था. उन्होंने सालाना आम बैठक में अध्यक्ष पद के लिए बत्रा के नाम का समर्थन किया. भारतीय भारोत्तोलन महासंघ के अध्यक्ष बैश्य भी शुरुआत में अध्यक्ष पद की दौड़ में थे, लेकिन बाद में उन्होंने नाम वापस ले लिया.

चुनाव पर हालांकि अनिश्चितता की तलवार लटक रही है क्योंकि प्रक्रिया में हस्तक्षेप से इंकार करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने स्पष्ट किया था कि नतीजा उसके समक्ष लंबित याचिका पर अंतिम फैसले पर निर्भर करेगा. अदालत ने यह निर्देश एडवोकेट राहुल मेहरा की याचिका पर दिया. मेहरा ने चुनाव को खेल आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए इस पर अंतरिम रोक लगाने की मांग की थी जिसे अदालत ने खारिज कर दिया था.

चुनाव जीतने के बाद बत्रा ने कहा कि वह 2032 ओलंपिक, 2030 एशियाई खेल और 2026 राष्ट्रमंडल खेल की मेजबानी का प्रस्ताव सरकार के समक्ष रखेंगे. उन्होंने कहा, ‘ अभी मुझे आईओए अध्यक्ष का पदभार संभालना है. एक बार पदभार संभालने के बाद आईओए सरकार के पास 2032 ओलंपिक, 2030 एशियाई खेल और 2026 राष्ट्रमंडल खेल की मेजबानी का प्रस्ताव लेकर जाएगा. हमें बड़ा सोचना चाहिए, लेकिन इन खेलों की मेजबानी सरकार पर निर्भर होगी क्योंकि धन के लिए मंजूरी उन्हें ही देनी है.  आईओए सरकार के साथ मिलकर काम करेगा ताकि खेलों के लिए अच्छा माहौल बने. हमें सरकार से अच्छे संबंध रखने हैं, लेकिन सरकार को भी अपने दखल की सीमा तय करनी होगी.’

आईओए के नए पदाधिकारी : अध्यक्ष : नरिंदर बत्रा, सीनियर उपाध्यक्ष : आरके आनंद, उपाध्यक्ष : आदिल सुमरीवाला, बीरेंद्र प्रसाद वैश्य, वीडी नानावटी, सुधांशु मित्तल, सुनयना कुमारी, के गोविंदराज, कुलदीप वत्स, करण चौटाला, महासचिव : राजीव मेहता, कोषाध्यक्ष : आनंदेश्वर पांडे, संयुक्त सचिव : एसएम बाली, राकेश गुप्ता, नामदेव शिरगांवकर, ओंकार सिंह, डीवी सीताराम राव, विक्रम सिसोदिया, कार्यकारी परिषद सदस्य : अधीप दास, अजित बनर्जी, बलबीर सिंह कुशवाह, दिग्विजय सिंह, दुष्यंत चौटाला, गुरुदत्ता भक्त, हेमोचंद्र सिंह, वीएम प्रसूद, रूपक देबराय, अभिजीत सरकार.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi