S M L

दुख और मुश्किलों से जूझ रहे जापान को ओसाका की जीत ने दी खुशी की किरण!

इस जीत पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने उनकी तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘आप ग्रैंडस्लैम जीतने वाली जापान की पहली खिलाड़ी हैं, पूरे देश को ऊर्जा और प्रेरणा देने के लिए शुक्रिया.’

Updated On: Sep 09, 2018 04:25 PM IST

Bhasha

0
दुख और मुश्किलों से जूझ रहे जापान को ओसाका की जीत ने दी खुशी की किरण!

हाल के दिनों में प्राकृतिक आपदाओं से जूझ रहे जापान के लोगों को नाओमी ओसाका ने यूएस ओपन जीतकर खुशी मनाने का मौका दिया है. ओसाका ग्रैंडस्लैम सिंगल्स खिताब जीतने वाली पहली जापानी खिलाड़ी बनीं. बीस साल की ओसाका ने खिताबी मुकाबले में अपनी आदर्श सेरेना विलियम्स को 6-2, 6-4 से शिकस्त दी.

उनकी इस जीत पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने उनकी तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘यूएस ओपन में जीत पर आपको बधाई. आप ग्रैंडस्लैम जीतने वाली जापान की पहली खिलाड़ी हैं. पूरे देश को ऊर्जा और प्रेरणा देने के लिए शुक्रिया.’

ओसाका के नाना तेत्सुओ ओसाका (73) पिछले दिनों भूकंप की चपेट में आए जापान के होक्काइदो द्वीप पर रहते हैं. उन्होंने कहा कि टेलीविजन पर नातिन को देखकर उन्हें रोना आ गया.

Sept 8, 2018; New York, NY, USA;   Naomi Osaka of Japan holds the U.S. Open trophy after beating Serena Williams of the USA in the women’s final on day thirteen of the 2018 U.S. Open tennis tournament at USTA Billie Jean King National Tennis Center. Mandatory Credit: Robert Deutsch-USA TODAY Sports - 11209121

उन्होंने पब्लिक ब्रॉडकास्टर एनएचके से कहा, ‘ मैं अभी तक उसकी जीत की खुमारी में डूबा हूं. जैसे ही उसने जीत दर्ज की मैं और मेरी पत्नी ने एक साथ जश्न मनाया. मैं काफी खुश था. मेरे आंखों में आंसू आ गए. मुझे उम्मीद है कि वह शानदार खेल जारी रखेगी और टोक्यो ओलिंपिक 2020 में भी जीत दर्ज करेगी.

जापान की मीडिया ने भी ओसाका की जीत की खबरों को प्रमुखता से जगह दी. ओसाका के पास जापान और अमेरिका की दोहरी नागरिकता है और वह जापानी मीडिया के सवालों का जवाब अंग्रेजी में देती हैं. उन्होंने कहा कि उनका अगला लक्ष्य टोक्यो (ओलिंपिक) में जीत दर्ज करना है.  ओसाका के अश्वेत रंग पर कटाक्ष करने वाले जापान के लोग भी इस जीत के बाद उन्हें अपना बता रहे हैं.

एक प्रशंसक ने ट्विटर पर लिखा, ‘उनके साक्षात्कार से पता चलाता है कि वह जापानी है. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता की उसका जन्म कहा हुआ है, वह कहां बड़ी हुई है, उसका रंग क्या है और वह कौन सी भाषा बोलती है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi