S M L

खेलो इंडिया में आए हमशक्ल, एक शूटर को कहना पड़ा- 'तेजा मैं हूं मार्क इधर है'...

चंडीगढ़ से आए दो जुड़वां भाइयों की एक जैसी सूरत देखकर गफलत में पड़ गए मेडल बांटने वाले अधिकारी

Updated On: Jan 16, 2019 04:33 PM IST

FP Staff

0
खेलो इंडिया में आए हमशक्ल, एक शूटर को कहना पड़ा- 'तेजा मैं हूं मार्क इधर है'...

साल 1994 में रिलीज हुई फिल्म अंदाज अपना-अपना को भारतीय सिनेमा के इतिहास मे एक शानदार कॉमेडी फिल्म माना जाता है. राजकुमार संतोषी के निर्देशन में बनी इस फिल्म में परेश रावल पर फिल्माया गया एक दृश्य आज भी लोगों के जेहन में ताजा है. उस दृश्य में डबल रोल निभा रहे परेश रावल के एक किरदार का नाम तेजा था. इन दोनों किरदारों के कन्फयूजन को दूर करने के लिए फिल्म के हीरो आमिर खान और सलमान खान तेजा के गाल पर एक निशान बना देते हैं जिससे उसकी पहचान हो सके. और इसके बाद गलतफहमी का एक ऐसा गुदगुदाने वाला सिलसिला शुरू होता जिसमें परेश रावल के दोनों किरदार दावा करते हैं- ‘तेजा मैं हूं मार्क इधर है.’  यह डायलॉग अब भी काफी मशहूर है.

इस काल्पनिक फिल्म में डबल रोल वाले किरदार को चेहरे पर मार्क के जरिए पहचानने की ट्रिक कितनी सटीक थी इसकी नजीर अब वास्तविक जीवन में दिखाई दी है. यूं तो डबल रोल को महज फिल्मी दुनिया की कल्पना ही माना जाता है लेकिन पुणे में आयोजित हो रहे खेलो इंडिया टूर्नामेंट में यह सच्चाई के रूप में सामने आया है.

udhayveer vijayveer

देश भर के स्कूली बच्चों के इस टूर्नामेंट में चंडीगढ़ से आए 16 साल के दो जुड़वां भाई उदयवीर और विजयवीर दिखने में इस कदर हमशक्ल है कि आधिकारियों के होने वाले कन्फ्यूजन के बचने के लिए उन्हें चेहरे के मार्क का सहारा लेना पड़ता है.

दरअसल उदयवीर अंडर-17 और विजयवीर अंडर 21 कैटेगरी की पिस्टल शूटिंग में हिस्सा ले रहे हैं. दो साल पहले इन जुड़वां भाइयों की पिता की मौत के बाद इनकी मां इन्हें पाल रही है.

खेलो इंडिया के इस टूर्नामेंट में उदयवीर ने अंडर 17 की 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में गोल्ड मेडल हासिल किया जबकि अंडर 21 में विजयवीर ने सिल्वर मेडल हासिल किया. टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक इन दोनों भाइयों के एक जैसी शक्ल होने के चलते मेडल सरेमनी में भी काफी गलतफहमी हुई. और फिर फिल्मी किरदार तेजा की तरह उदयवीर को अपने चेहरे का मार्क दिखा कर बताना पड़ा कि असली गोल्ड मेडलिस्ट वह हैं जबकि उनके भाई सिल्वर मेडलिस्ट है.

एक जैसे दिखने वाले इन दोनों भाइयों की शक्ल में अंतर करने वाला उदयवीर का यह मार्क जन्मजात नहीं है बल्कि पिछले साल केरल में हुए नेशनल गेम्स के दौरान एक इनफेक्शन के चलते बन गया है और अब यही मार्क ने इन दोनों भाइयों अपनी-अपनी पहचान साबित करने में सबसे ज्यादा मदद करता है.

(तस्वीर साभार: कामेश श्रीनिवासन फेसबुक)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi