S M L

शूटिंग वर्ल्ड कप: जानिए उन युवा शूटरों को जिन्होंने अपने पहले ही वर्ल्ड कप में दिखाया दम

अपना पहला शूटिंग वर्ल्ड कप खेल रहे मनु भाकर, मेहुली घोष और शहजार रिजवी ने मेडल जीत कर खुद को साबित किया है

FP Staff Updated On: Mar 06, 2018 04:48 PM IST

0
शूटिंग वर्ल्ड कप: जानिए उन युवा शूटरों को जिन्होंने अपने पहले ही वर्ल्ड कप में दिखाया दम

साल के पहले शूटिंग वर्ल्ड कप में भारत अब तक सात मेडल हासिल चुका है. भारत के लिए इस टूर्नामेंट में सबसे खास बात रही युवा और डेब्यू करने वाले खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन जिससे देश की आगे इस खेल में कई मेडल हासिल करने की उम्मीद बढ़ गई है. जीतू राय और हिना सिद्धू जैसे खिलाड़ियों के बीच इस टूर्नामेंट में कई युवा खिलाड़ी स्टार बनकर उभरे हैं.

मनु भाकर

हरियाणा के झज्जर की मनु भाकर ने देश को गर्व करने का मौका दिया है. महज 16 साल की उम्र में आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में पहली बार हिस्सा लेने आई मनु भाकर ने इतिहास रच दिया. सोमवार देर रात मनु भाकर ने एयर पिस्टल मिक्स्ड इवेंट में प्रकाश मिथरवाल के साथ गोल्ड मेडल हासिल किया. इससे पहले 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में मनु गोल्ड मेडल जीत चुकी थीं.

manu bhaker

11वीं कक्षा की मेडिकल स्ट्रीम में पढ़ने वाली मनु ने साल के पहले शूटिंग वर्ल्ड कप में एक नहीं, बल्कि दो दो गोल्ड मेडल हासिल किए. दो साल पहले निशानेबाजी शुरू करने वाली मनु ने पिछले साल दो राष्ट्रीय रिकॉर्ड अपने नाम किए थे. इससे पहले मनु दिसंबर महीने में जापान में हुई एशियन चैंपियनशिप में दस मीटर एयर पिस्टल में सिल्वर मेडल जीतकर देश का नाम रोशन कर चुकी हैं. मनु पहले मुक्केबाजी किया करती थीं. मुक्केबाजी में आंख में चोट लगने के बाद उनकी मां ने उन्हें मुक्केबाजी करने से मना कर दिया.

मेहुली घोष

बंगाल की मेहुली घोष उन खिलाड़ियों में शामिल हो गईं जिन्होंने कम उम्र में देश का नाम रोशन किया. महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल शूटिंग प्रतिस्पर्धा में मेहुली घोष ने कांस्य पर निशाना साधा. 228.4 पॉइंट के साथ वह तीसरे स्थान पर रहीं. ओलिंपियन जॉयदीप करमाकर की कोचिंग में मेहुली लगातार शानदार प्रदर्शन कर रही हैं.

mehuli ghosh

पिछले साल दिसंबर में मनु ने तिरूवनंतपुरम में हुई 61वीं राष्ट्रीय निशानेबाजी चैंपियनशिप की 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में अपने से कहीं ज्यादा अनुभवी हिना सिद्धू को पछाड़कर स्वर्ण जीता था. इसमें उन्होंने नौ गोल्ड समेत कुल 15 पदक जीते थे और सनसनी मचा दी थी. साल 2017 में ही उन्होंने चेक गणराज्य में जूनियर शूटिंग चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था. 123 प्रतिभागियों में वह सातवें स्थान पर रही थीं और फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय शूटर बनी थीं.

शहजार रिजवी

मेरठ के शहजार रिजवी ने अपने पहले ही शूटिंग वर्ल्ड कप में दिखा दिया कि देश उनसे आगे कई मेडलों की उम्मीद कर सकता है. भारतीय वायुसेना का प्रतिनिधित्व करने वाले निशानेबाज शहजार रिजवी ने आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड मेडल तो जीता ही साथ ही 242.3 अंकों का नया विश्व रिकॉर्ड भी बनाया.

shazan rizvi

उन्होंने जापान में 10वीं एशियन एयरगन चैंपियनशिप में टीम गोल्ड और पिछले वर्ष हुई नौवीं एशियन एयरगन चैंपियनशिप में व्यक्तिगत गोल्ड मेडल पर कब्जा किया था. 61वीं राष्ट्रीय चैंपियनशिप में उन्होंने फाइनल में जीतू राय जैसे दिग्गज खिलाड़ियों को पछाड़ा जो छठे स्थान पर रहे.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi