S M L

पहली बार 2032 ओलिंपिक की मेजबानी के लिए भारत ने ठोका दावा...

2025 में होगा मेजबान शहर के नाम का ऐलान

Updated On: Dec 04, 2018 11:12 AM IST

FP Staff

0
पहली बार 2032 ओलिंपिक की मेजबानी के लिए भारत ने ठोका दावा...

साल 2010 के कॉमनवेल्थ गेम्स  बाद से भारत में किसी भी बड़े खेल आयोजन नहीं हुआ है और अब इंडियन ओलिंपिक ऐसोसिएशन यानी आईओए ने  2032 ओलिंपिक के लिए दावा ठोक दिया है. आईओए ने इन खेलों की मेजबानी के लिए औपचारिक तौर पर अपनी दिलचस्पी से ओलिंपिक खेलों की वर्ल्ड बॉडी यानी आईओसी के अवगत करा दिया है. आईओए 2032 ओलंपिक की मेजबानी को लेकर ‘बेहद गंभीर’ है जिसके लिए उसने इस खेल महाकुंभ के आयोजन के लिए दावेदारी पेश करने की आधिकारिक तौर पर दिलचस्पी दिखाई है.  आईओए सरकार से संपर्क कर इसके लिए समर्थन भी मांगेगा. इससे पहले भारत दौरे पर आये अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओए) के प्रमुख थॉमस बाक को आईओए के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने कहा था कि भारत 2032 ओलंपिक की दावेदारी करने के बारे में विचार कर रहा है. बाक ने भारत की पहल का स्वागत किया था.

आईओए पहले ही 2032 ओलिंपिक की मेजबानी की बोली लगाने के लिए अपनी इच्छा से संबंधित पत्र आईओसी को सौंप चुका है. इसके बाद आईओए के महासचिव राजीव मेहता ने जैक्लीन बार्रेट की अध्यक्षता वाली आईओए की तीन सदस्यीय बोली समिति से इस महीने की शुरूआत में मुलाकात की थी. जैक्लीन ओलिंपिक खेलों की एसोसिएट निदेशक (ओलंपिक दावेदारी) हैं. मेहता ने पीटीआई से कहा, ‘हम 2032 ओलिंपिक की दावेदारी को लेकर बेहद गंभीर है. इसलिए हम पहले ही 2032 ओलिंपिक की मेजबानी की बोली में अपनी दिलचस्पी से संबंधित पत्र आईओसी को सौंप चुके हैं. आईओसी की बोली समिति के सदस्यों से मेरी मुलाकात हुई उन्होंने हमारे फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि भारत को काफी पहले ही ओलिंपिक की मेजबानी करनी चाहिए थी.’

आईओए के टॉप अधिकारियों के दिमाग में मेजबानी के लिये दिल्ली और मुंबई का नाम है पर दूसरे शहरों को नकारा नहीं जा सकता.  यह पहली बार है जब आईओए ने आधिकारिक रूप से ओलिंपिक मेजबानी की दावेदारी की इच्छा जताई है.

ओलिंपिक 2032 के लिए बोली प्रक्रिया की शुरूआत 2022 में होगी और मेजबान शहर के नाम की घोषणा 2025 में की जाएगी.

(इनपुट भाषा)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi