S M L

आईओए की खेलमंत्री से मांग, डाइट भत्ता बढ़ाइए, खिलाड़ियों को मिले बिजनेस क्लास में सफर की अनुमति

आईओए के महासचिव राजीव मेहता ने कहा, मैं आश्वस्त कर सकता हूं कि अगर हम इन सुविधाओं का ध्यान रखेंगे और डाइट सप्लीमेंट भत्ता 450 रूपये से बढ़ाकर 1000 रुपए कर देंगे तो आपको आगे इसके नतीजे भी दिखाई देंगे

Updated On: Oct 21, 2018 06:58 PM IST

Bhasha

0
आईओए की खेलमंत्री से मांग, डाइट भत्ता बढ़ाइए, खिलाड़ियों को मिले बिजनेस क्लास में सफर की अनुमति
Loading...

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के महासचिव राजीव मेहता ने रविवार को खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ से अनुरोध किया कि भारतीय खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के लिए बिजनेस क्लास से सफर करने की अनुमति दी जाए और उनका डाइट संबंधित भत्ता भी दोगुना किया जाए. आईओए ने युवा ओलिंपिक खेलों के पदकधारियों को क्रमश: तीन लाख, डेढ़ लाख और एक लाख रुपए के नकद पुरस्कार से सम्मानित किया.

मेहता ने राठौड़ और खेल सचिव राहुल भटनागर की उपस्थिति में कहा, ‘हम अक्सर देखते हैं कि अधिकारी अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में बिजनेस क्लास में सफर करते हैं और एथलीट इकॉनमी से यात्रा करते हैं. मुझे शर्म महसूस होती है. मैं मंत्रालय से अनुरोध करूंगा कि वह तीन घंटे से ज्यादा किसी भी यात्रा के लिए बिजनेस क्लास सफर कराने पर विचार करे.’

उन्होंने कहा, ‘मैं आश्वस्त कर सकता हूं कि अगर हम इन सुविधाओं का ध्यान रखेंगे और डाइट सप्लीमेंट भत्ता 450 रूपये से बढ़ाकर 1000 रुपए कर देंगे तो आपको आगे इसके नतीजे भी दिखाई देंगे. उम्मीद है कि साई के अगले कार्यक्रम में खेल मंत्री हमें कुछ आश्वासन देंगे.’

आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने जूनियर स्तर पर सफलता प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों को आत्ममुग्धता से बचने के लिए भी सतर्क किया. बत्रा ने जूनियर विश्व कप विजेता हॉकी खिलाड़ियों का उदाहरण दिया जिनका ध्यान भटक गया और वे सीनियर टीम में जगह नहीं बना सके.

बत्रा ने कहा, ‘आपका ध्यान 2020 टोक्यो ओलिंपिक पर होना चाहिए. मैं आपको जूनियर विश्व कप विजेता हॉकी टीम के खिलाड़ियों का उदाहरण बताना चाहता हूं. हमने सोचा था कि वे सीनियर टीम में खेलेंगे, लेकिन इनमें से कुछ का ध्यान भटक गया. एक ने तो फेसबुक पर फिल्म भी बनाई. अब ये खिलाड़ी सीनियर टीम के 40 संभावित खिलाड़ियों में भी शामिल नहीं हैं और भारत के लिए नहीं खेलेंगे. इसलिये मैं चाहता हूं कि आप सब अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित रखिए.’
खेल मंत्री ने खिलाड़ियों को सरकार से हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री अपने व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद सुबह आप सभी लोगों से मिले, जिससे दिखता है कि आप लोग कितने महत्वपूर्ण हो. हमने 2020 टोक्यो के लिए ही नहीं बल्कि 2024 खेलों के लिए भी प्रक्रिया शुरू कर दी है.

उन्होंने कहा, ‘कुछ के लिए युवा ओलिंपिक पदक अच्छे कॉलेज के लिए अहम है, लेकिन कुछ इससे भी आगे के बारे में सोच रहे हैं. कुछ सफल नहीं होंगे और कुछ अपनी कठिन मेहनत से ओलिंपिक गौरव हासिल करने में सफल रहेंगे.’ राठौड़ ने यह भी कहा कि मंत्रालय गैर-ओलिंपिक खेलों के प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की भी मदद करेगा जो एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों का हिस्सा हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi