S M L

इंटरकॉन्टिनेंटल फुटबॉल कप : अपने 100वें अंतरराष्ट्रीय मैच को यादगार बनाना चाहेंगे सुनील छेत्री

भारत बनाम केन्या मैच में सभी की निगाहें स्टार फुटबॉलर छेत्री पर लगी होंगी

Bhasha Updated On: Jun 04, 2018 10:55 AM IST

0
इंटरकॉन्टिनेंटल  फुटबॉल कप : अपने 100वें अंतरराष्ट्रीय मैच को यादगार बनाना चाहेंगे सुनील छेत्री

केन्या के खिलाफ होने वाले इंटरकांटिनेंटल कप फुटबॉल मुकाबले में सभी की निगाहें सोमवार को भारतीय स्टार फुटबॉलर सुनील छेत्री पर लगी होंगी, जो अपने 100वें अंतरराष्ट्रीय मैच को यादगार बनाने का प्रयास करेंगे. यह करिश्माई स्ट्राइकर अब तक 59 गोल कर चुका है और भारत की ओर से सर्वाधिक गोल करने वाला धुरंधर है. वहीं केन्याई टीम छेत्री एंड कंपनी की अगले दौर में पहुंचने की उम्मीद तोड़ना चाहेगी. उनके कोच सेबेस्टियन मिग्ने ने भारतीय टीम को बेहतरीन करार दिया था.

एक और जीत टीम को फाइनल में पहुंचा देगी 

मुंबई फुटबॉल एरीना में एक और जीत घरेलू टीम को टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचा देगी जिसका आयोजन अगले साल होने वाले एशियाई कप की तैयारियों के लिए किया जा रहा है. टूर्नामेंट के शुरुआती मैच में 97वीं रैंकिंग की टीम ने चीनी ताइपे को 5-0 से शिकस्त दी थी. छेत्री शानदार फॉर्म में हैं, उन्होंने इस मैच में हैट्रिक कर अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में तीसरी बार यह कारनामा किया था और वह शारीरिक रूप से मजबूत और आक्रामक अफ्रीकी टीम के खिलाफ इसी तरीके का प्रदर्शन करना चाहेंगे

भारत के पास हैं आक्रामक मिडफील्डर 

छेत्री और उनके साथी स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुआ पहले भी दिखा चुके हैं कि अगर वे फॉर्म में हैं तो किसी भी डिफेंस को आसानी से तोड़ा जा सकता है. भारतीय कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन के पास फ्रंटलाइन में बलवंत सिंह के रूप में भी विकल्प मौजूद है और मैच में परिस्थिति को देखते हुए उनके नाम पर भी विचार किया जा सकता है. अगर छेत्री की अगुआई वाली भारतीय फारवर्ड पंक्ति फिर से आक्रामक होती है तो केन्याई टीम के डिफेंडरों को कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ सकता है. भारत के पास उदांता सिंह, अनिरूद्ध थापा और प्रणय हलदर के रूप में आक्रामक मिडफील्डर मौजूद हैं जिन्होंने पिछले मैच में काफी अच्छा प्रदर्शन किया था. उदांता और प्रणय ने चीनी ताइपे के खिलाफ गोल किए थे और सोमवार को वे निश्चित रूप से शुरुआत करेंगे.

काफी मजबूत है रक्षा पंक्ति  

भारत के पास रक्षा पंक्ति भी काफी मजबूत है जिसमें अनुभवी संदेश झींगन और प्रीतम कोटल बैकलाइन की जिम्मेदारी संभाले हैं. नारायण दास और सुभाशीष बोस जैसे खिलाड़ियों की मौजूदगी से लाइनअप मजबूत दिखता है. गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू बेहतरीन हैं और उनकी भूमिका काफी अहम होगी. कांस्टेनटाइन पिछले मैच में अपनी टीम के दबदबे से काफी खुश थे, लेकिन साथ ही उन्होंने चेताया कि वे आत्ममुग्ध नहीं हो सकते. भारतीय टीम रैंकिंग में प्रतिद्वंद्वी से काफी ऊपर है और यहां की परिस्थितियों से वाकिफ है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi