S M L

CWG 2018: देश का प्रतिनिधित्व कर रहे खिलाड़ियों का इतने लाख का होगा इंश्योरेंस

भारतीय ओलिंपिक संघ ने लंबे समय के लिए एडलवाइज ग्रुप से हाथ मिला लिया है.

Updated On: Feb 26, 2018 05:39 PM IST

FP Staff

0
CWG 2018: देश का प्रतिनिधित्व कर रहे खिलाड़ियों का इतने लाख का होगा इंश्योरेंस
Loading...

भारतीय ओलिंपिक संघ ने खिलाड़ियों के हित में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए लंबे समय के लिए एडलवाइज ग्रुप से हाथ मिला लिया है. एडलवाइज ग्रप का ये साथ ओलिंपिक संघ के साथ 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स, 2018 एशियन गेम्स और 2020 टोक्यो ओलिंपिक गेम्स के लिए है. इसके तहत 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में देश का प्रतिनिधित्व कर रहे खिलाड़ियों का एडलवाइज टोक्यो लाइफ इंश्योरेंस की तरफ से 50 लाख रुपए का लाइफ इंश्योरेंस किया जाएगा.

सोमवार को दिल्ली में आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में भारतीय ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष नरिंदर ध्रुव बत्रा और सचिव राजीव मेहता ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि आॅस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में 4 से 15 अप्रैल तक होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए रेमंड आधिकारिक स्टाइलिंग पार्टनर और शिव नरेश अधिकारिक स्पोर्ट्स परिधान के पार्टनर होंगे. खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ भी इस मौके पर मौजूद थे, वहीं जिमनास्ट दीपा कर्माकर, बैडमिंटन खिलाड़ी एचएस प्रणॉय, युवा निशानेबाज अनुराज सिंह और अनीष, अनुभवी निशानेबाज जीतू राय, भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह और महिला टीम की कप्तान रानी रामपाल, हॉकी खिलाड़ी रूपिंदर पाल सिंह और सविता पूनिया मौजूद थे.

इस मौके पर खेल मंत्री ने कहा कि भारत सरकार खेलों की सबसे बड़ी स्पॉन्सर है. सरकार खेलों को और खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने की लगातार कोशिश कर रही है. स्पोर्ट्स मैनेजमेंट को पेशेवर बनाएंगे. राठौड़ ने कहा कि अब देश में सभी खेल आगे बढ़ रहे हैं, कई तरह की लीग्स हो रही हैं. उन्होंने कहा कि लंबे समय के विकास के लिए सरकार फेडरेशनों से बात कर रही है. राठौड़ ने बताया कि अभी उन्हें नेशनल स्पोर्ट्स डवलपमेंट फंड से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ना है. इस फंड के बारे में उन्होंने बताया कि इस फंड में कितना भी रुपए दान दिया जा सकता है. सौ रुपए से लाखों रुपए तक इस फंड में लोग दे सकते हैं और यही नहीं फंड देने वाले को यह बताने का भी अधिकार होगा कि उसका पैसा किस खेल में और किस खिलाड़ी पर खर्च किया जाए. वहीं अगले कॉमनवेल्थ गेम्स से निशानेबाजी को हटाए जाने पर राठौड़ ने कहा कि इस पर बात रहे हैं और उनकी कोशिश रहेगी कि निशानेबाजी बरकरार रहे.

वहीं, आईओए अध्यक्ष ने कहा कि भारत को स्पोर्टिंग सुपर पावर बनाने के लिए इस विजन को साझा करते हुए उन्हें खुशी हो रही है. उन्होंने कहा कि ये नई पार्टनरशिप हमारे खिलाड़ियों के लिए 2020 टोक्यो ओलिंपिक की तैयारी के लिए बेहतर साबित होगी.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi