S M L

Asian Games 2018: उम्मीदों से परे प्रदर्शन करके फवाद ने 36 साल बाद देश को दिलाया मेडल

फवाद मिर्जा ने सिल्वर मेडल जीतकर एशियाई खेलों में 36 सालों का रिकॉर्ड तोड़ा

Updated On: Aug 26, 2018 03:22 PM IST

Bhasha

0
Asian Games 2018: उम्मीदों से परे प्रदर्शन करके फवाद ने 36 साल बाद देश को दिलाया मेडल
Loading...

फवाद मिर्जा ने सिल्वर मेडल जीतकर एशियाई खेलों की घुड़सवारी प्रतियोगिता में पिछले 36 वर्षों से व्यक्तिगत मेडल पाने वाला पहला भारतीय बनने का गौरव हासिल किया जबकि उनके प्रयासों से टीम भी दूसरा स्थान हासिल करने में सफल रही.

‘सिगनोर मेदिकोट’ नाम के घोड़े पर सवार मिर्जा ने ड्रेसेज और क्रॉस कंट्री क्वालिफायर्स में 22.40 के स्कोर के साथ पहले स्थान पर रहते हुए जंपिंग फाइनल्स में प्रवेश किया. उन्होंने जंपिग फाइनल्स में 26.40 के स्कोर के साथ सिल्वर मेडn जीता. जापान के ओइवा योशियाकी ने 22.70 के स्कोर के साथ गोल्ड जबकि चीन के अलेक्स ह्यून तियान (27.10) ने ब्रॉन्ज मेडल जीता.

मिर्जा के के शानदार प्रदर्शन के सहारे भारत ने टीम इवेंट में भी सिल्वर मेडल हासिल किया. इस टीम में मिर्जा के अलावा जितेंदर सिंह, आशीष मलिक और राकेश कुमार शामिल थे. भारतीय टीम का कुल स्कोर 121.30 रहा. जापान (82.40) ने गोल्ड और थाईलैंड (126.70) ने ब्रॉन्ज मेडल जीता.

India's Fouaad Mirza competes in the eventing team and individual cross country event at the equestrian competition at the 2018 Asian Games in Jakarta on August 25, 2018. / AFP PHOTO / Arief Bagus

फवाद जर्मन ओलंपियन बेटिना हाय से प्रशिक्षण ले रहे थे. उन्होंने पिछले साल इटली के मोंटेलब्रेटी में एशियाई खेल सीसीआई घुड़सवारी प्रतियोगिता के पहले दो ट्रायल्स में जीत दर्ज करके भारतीय टीम में जगह बनाई थी.

इटली में जीत दर्ज करने के बाद उन्होंने फ्रांस और जर्मनी में भी अपने हुनर का प्रदर्शन करके जीत हासिल की थी. फवाद ने ऐसे समय में यह उपलब्धि हासिल की जब भारतीय घुड़सवारी टीम के लिए इंडानेशिया की राजधानी तक की राह आसान नहीं रही. भारतीय टीम को रवाना होने से केवल एक दिन पहले मान्यता कार्ड मिले थे. ऐसा भारतीय घुड़सवारी महासंघ की अंदरूनी कलह के कारण हुआ था क्योंकि ईएफआई ने चयन को अमान्य घोषित कर दिया था.

भारत ने इससे पहले एशियाई खेलों की घुड़सवारी में तीन गोल्ड सहित दस मेडल जीते हैं लेकिन इस खेल में भारत की तरफ से मिर्जा से पहले आखिरी व्यक्तिगत मेडल 1982 में दिल्ली एशियाई खेलों में जीते गए थे. तब रघुवीर सिंह ने गोल्ड मेडस जीता था जबकि भारत के गुलाम मोहम्मद खान ने रजत और प्रहलाद सिंह ने ब्रॉन्ज हासिल किया था. इन चार दिग्गजों के अलावा विश्व में तीसरे नंबर के खिलाड़ी हुआन मार्टिन डेल पोत्रो भी दावेदार हैं जबकि विश्व के नंबर चार अलेक्सांद्र ज्वेरेव भी अच्छी प्रगति कर रहे हैं. यूनान के 20 वर्षीय स्टेफनोस सितसिपास भी अच्छी फार्म में हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi