S M L

मुक्केबाजी : स्वीटी बूरा ने जीता स्वर्ण, भारत के हिस्से आए कुल सात पदक

पुरुष वर्ग में ब्रजेश यादव और वीरेंद्र कुमार फाइनल में जीत के सिलसिले को जारी नहीं रख पाए और रजत पदक तक सीमित रह गए

FP Staff Updated On: Jun 12, 2018 09:04 PM IST

0
मुक्केबाजी : स्वीटी बूरा ने जीता स्वर्ण, भारत के हिस्से आए कुल सात पदक

भारतीय मुक्केबाज स्वीटी बूरा ने रूस के कास्पिक में मंगलवार को उमाखानोव मेमोरियल टूर्नामेंट के फाइनल में एना अनफिनोजिनोवा को हराकर स्वर्ण पदक जीता. विश्व चैंपियनशिप की पूर्व रजत पदक विजेता स्वीटी ने मिडिलवेट (75 किग्रा) वर्ग में सर्वसम्मत फैसले में जीत दर्ज की. भारत ने इस टूर्नामेंट में कुल सात पदक अपने नाम किए, जिसमें से चार कांस्य, दो रजत और एक स्वर्ण पदक शामिल है.

पुरुष वर्ग में ब्रजेश यादव (81 किलोग्राम) और वीरेंद्र कुमार (91 किलोग्राम) फाइनल में जीत के सिलसिले को जारी नहीं रख पाए और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा. यादव को रूस के मुराद रबादानोवोव ने हराया तो वही कुमार को स्वीडन के एलेक्जेंडर मवालबेल ने शिकस्त दी. स्वीटी ने शानदार शुरुआत की और एना को रक्षात्मक खेल खेलने पर मजबूर कर दिया. रूसी खिलाड़ी ने स्वीटी पर हावी होने की बहुत कोशिशें की, लेकिन सफल नहीं हो सकीं.

इससे पहले विश्व युवा चैंपियन शशि चोपड़ा (57 किग्रा), राष्ट्रमंडल खेलों की पूर्व कांस्य पदक विजेता पिंकी जांगड़ा (51 किग्रा) और पवित्रा (60 किग्रा) को अपने-अपने सेमीफाइनल मुकाबले गंवाने के बाद कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था. पुरुष मुक्केबाजों में विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता गौरव विधूड़ी (56 किग्रा) को सेमीफाइनल में हार के साथ कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi