S M L

Champions Trophy Hockey, India vs Pakistan : पाकिस्तान के खिलाफ अपने अभियान का आगाज करेगी भारतीय हॉकी टीम

इस बार चैंपियंस ट्रॉफी में ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना, दुनिया की नंबर एक टीम ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, मेजबान नीदरलैंड्स, भारत और पाकिस्तान खेल रहे हैं

Updated On: Jun 22, 2018 10:12 PM IST

Bhasha

0
Champions Trophy Hockey, India vs Pakistan : पाकिस्तान के खिलाफ अपने अभियान का आगाज करेगी भारतीय हॉकी टीम

कॉमनवेल्थ गेम्स में खराब प्रदर्शन की निराशा को पीछे छोड़कर भारतीय हॉकी टीम पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी खिताब अपने नाम करने के इरादे से शनिवार को नीदरलैंड्स के ब्रेडा में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ अपने अभियान का आगाज करेगी. एशियाई चैंपियन भारत ने 36 बार में अभी तक एक भी चैंपियंस ट्रॉफी नहीं जीती है और इस बार टूर्नामेंट के आखिरी सत्र में यह उपलब्धि हासिल करना चाहेगी. भारतीय टीम का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2016 में रहा जब ऑस्ट्रेलिया से शूटआउट में हारकर उसने रजत पदक जीता था.

आठ बार की ओलंपिक चैंपियन भारतीय टीम कॉमनवेल्थ गेम्स में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद चौथे स्थान पर रही. इसके बाद नीदरलैंड्स के शुअर्ड मारिन्ये की जगह हरेंद्र सिंह को पुरुष टीम का कोच बनाया गया जबकि मारिन्ये महिला टीम के पास लौट गए. चैंपियंस ट्रॉफी में दुनिया की शीर्ष छह टीमें खेलती है और इस बार ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना, दुनिया की नंबर एक टीम ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, मेजबान नीदरलैंड्स, भारत और पाकिस्तान खेल रहे हैं.

भारत विश्व रैंकिंग में छठे और पाकिस्तान 13वें स्थान पर है लेकिन आमने-सामने के मुकाबलों में दोनों का रिकॉर्ड बराबर है. पिछले कुछ अर्से के नतीजों के आधार पर हालांकि भारत का पलड़ा भारी होगा. भारत ने एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी 2016 के फाइनल में पाकिस्तान को हराया जिसके बाद लंदन में 2017 हॉकी विश्व लीग सेमीफाइनल में उसे मात दी और ढाका में एशिया कप में उसे हराकर दस साल बाद खिताब जीता. भारत के पूर्व कोच और हाई परफार्मेंस मैनेजर रोलेंट ओल्टमेंस के मार्गदर्शन में पाकिस्तान ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को ड्रॉ पर रोका.

तीसरी बार सीनियर टीम के कोच बने हरेंद्र की एशियाई खेलों और विश्व कप से पहले यह असल चुनौती होगी. उन्होंने कहा, ‘जीत के साथ आगाज करना जरूरी है क्योंकि इससे लय तय होती है. पाकिस्तान के खिलाफ मैच से पहले जज्बात पर काबू रखना होगा. हम उससे दूसरी टीमों की तरह ही खेलेंगे.’ गोल्ड कोस्ट में भारत ने सरदार सिंह जैसे सीनियरों को बाहर करके युवाओं को मौका दिया था, लेकिन हरेंद्र कोई प्रयोग करने के मूड में नहीं हैं और राष्ट्रीय शिविर में प्रदर्शन के आधार पर टीम चुनी है. गोलकीपर पीआर श्रीजेश कप्तान होंगे जबकि एसवी सुनील और सरदार की टीम में वापसी हुई है.

पाकिस्तान तीन बार (1978, 1980 और 1994)  चैंपियंस ट्रॉफी जीत चुका है, लेकिन हर बार अपनी धरती पर ही खिताब जीता. पाकिस्तान के पास अनुभवी और युवा खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण है. कप्तान मोहम्मद रिजवान सीनियर 100 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं. शफकत रसूल ने 190 मैच खेले हैं.

भारतीय हॉकी टीम का कार्यक्रम

भारत बनाम पाकिस्तान- 23 जून

भारत बनाम अर्जेंटीना-  24 जून

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया -  27 जून

भारत बनाम बेल्जियम  -  28 जून

भारत बनाम नीदरलैंड्स  - 30 जून

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi